नरवर की सरकार बनाने वाले नागपुर पहुंचने की खबर:जीत का जश्न भी नही,बीच से उठ गए पार्षद - narwar News

संतोष शर्मा @ शिवपुरी। नरवर नगर के सभी वार्डो का चुनावी रिजल्ट आ चुका हैं,परिणाम काफी चौकाने वाले थे जनता ने मुख्य पार्टियों से अधिक निर्दलीयों को अपना समर्थन दिया इसकी परिणाम रहा कि 4 भाजपा,4 कांग्रेस और 6 निर्दलीय एवं 1 बसपा का पार्षद चुन कर आया। पार्षद ही मिलकर तय करेंगे अपना अध्यक्ष इस कारण पार्षदों को जीत का जश्न भी नही मनाने दिया और बीच से उठा ले गए ऐसी चर्चा हैं। नरवर में जीते हुए पार्षद अब तलाशने से नही मिल रहे है।

नरवर में अध्यक्ष बनाने के लिए कम से कम आठ वोटो की आवश्यकता हैं भाजपा के 4 पार्षद जीते थे और कांग्रेस के 4 दोनों दलों को 4 वोटों की और आवश्यकता थी। निर्दलीय का वोट आवश्यक था। इसलिए जुगाड और उठापटक शुरू हो गई। पिछले 24 घंटे से निर्दलीय पार्षदों का भाजपा की सदस्यता लेने की पोस्ट सोशल पर वायरल हो रही है। वही कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा ने पैसा और सत्ता की दम पर नरवर से चुने हुए पार्षदों को ही गायब कर दिया हैं। बताया जा रहा है नरवर नगर की सरकार बनाने वाले नागपुर की सैर कर रहे हैं।

कांग्रेस जिला अध्यक्ष ने भाजपा पर पार्षदों को जबरन अपने पक्ष में करने के आरोप लगाए। कांग्रेस अध्यक्ष श्रीप्रकाश शर्मा ने यहां तक कहा कि भाजपा अपनी सरकार होने का दुरुपयोग करते हुए पुलिस की मदद से पार्षदों को उनके घर से ले गई। पार्षदों को दूसरी जगह रखा गया है। चुनाव जीतने के अगले दिन नए-नए पार्षद दिखाई भी नहीं दिए जिससे इस बात को बल भी मिला।

निर्दलीय प्रत्याशियों के भाजपा को समर्थन देने से संदीप माहेश्वरी के खेमे से अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है। संदीप माहेश्वरी की पत्नी अध्यक्ष बन सकती हैं। ऐसा हुआ तो यह पहली बार होगा जब नरवर नगर परिषद में भाजपा का अध्यक्ष होगा। इसके पहले निर्दलीय या फिर कांग्रेस का प्रत्याशी ही अध्यक्ष बना है। इस बार अध्यक्ष चुनने की प्रक्रिया पूरी तरह से बदल जाने से सभी के समीकरण भी बिगड़ गए हैं।