करैरा से भागे दोनों बच्चे दिनारा में मिले: दिन में कचरा बीनते थे खुले आसमान के नीचे सोते थे- karera News

करैरा। करैरा में दो बच्चे पिछले 8-10 दिन से अचानक लापता हो गए थे। परिजनों ने उन्हें ढूंढने का काफी प्रयास किया। लेकिन जब वह नहीं मिले तो उन्होंने दोनों बच्चों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। उक्त दोनों बच्चे दिनारा में पुलिस को मुखबिर की सूचना पर दिनारा में कचरे बीनते हुए मिले।


दोनों बच्चों ने पूछताछ में बताया कि वह दिनभर कचरा बीनते थे और रात को होटल में खाना खाकर खुले आसमान के नीचे सो जाते थे। वह घर से क्यों भागे इसका दोनों बच्चों ने कोई जवाब नहीं दिया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों नाबालिग बालक बहुत गरीब परिवार से हैं और उनके माता-पिता मजदूरी करते हैं। एक बालक के पिता नगर पंचायत में सफाई कर्मी हैं। जबकि दूसरे के पिता दिहाड़ी मजदूर हैं। दोनों बालक बहुत अच्छे मित्र हैं। दोनों बच्चे जब घर से लापता हो गए तो परिजनों ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट करेरा थाने में दर्ज कराई। दोनों नाबालिग बच्चों की तलाश का जिम्मा उपनिरीक्षक सुरेश शर्मा को सौंपा गया।

जिसके बाद झांसी, शिवपुरी, दतिया, डबरा, ग्वालियर आदि शहरों में उनकी तलाश की गई। लेकिन कोई खोज खबर नहीं मिली। परंतु मुखबिर की सूचना पर दोनों के दिनारा में होने की जानकारी मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर दोनों बच्चों को बरामद किया और उन्हें लेकर करैरा आई। उसके बाद उन्हें उनके परिजनों को सौंप दिया।