नरवर में 17 को होगा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव: कांग्रेस का नगदी और कार देने का आरोप - narwar News

शिवपुरी। माननीय उच्च न्यायालय के आदेश के बाद नगर पंचायत नरवर के पार्षदों का चुनाव तो सम्पन्न हो गया। लेकिन अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के चुनाव के लिए 17 मार्च की तिथि मुकर्रर की गई है। पार्षद पद के चुनाव में कांग्रेस भाजपा या बसपा किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। 15 सदस्यीय सदन में जहां कांग्रेस और भाजपा के चार-चार पार्षद विजयी हुए हैं। वहीं 6 निर्दलीय पार्षद और 1 बहुजन समाज पार्टी का पार्षद चुनाव जीता है।

ऐसे में बाजी निर्दलीय पार्षदों के हाथों में है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दल निर्दलीय पार्षदों को अपने-अपने पाले में खींचने का प्रयास कर रही हैं। लेकिन इस भागदौड में कांग्रेस हताशा में नजर आ रही है और उसका आत्मविश्वास डिगा हुआ है। जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीप्रकाश शर्मा का आरोप है कि भाजपा निर्दलीय और बसपा पार्षद को अपने पक्ष में करने के लिए 10-10 लाख रूपए और कार का ऑफर दे रही है। ऐसे में उनकी दाल कैसे गलेगी। जबकि भाजपा आत्मविश्वास से परिपूर्ण है। इसका कारण यह है कि सूत्रों के अनुसार भाजपा ने निर्दलीय पार्षदों को अपने पाले में खींच लिया है।

17 मार्च को यह तय हो जाएगा कि नगर पंचायत नरवर का अध्यक्ष कौन होता है। अध्यक्ष पद सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित है। भाजपा में इस पद के लिए पदमा पत्नी संदीप माहेश्वरी का नाम पूर्व से लिया जा रहा था। कांग्रेस में पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष मनोज माहेश्वर की पत्नी रूचि माहेश्वरी को अध्यक्ष पद का दावेदार माना जा रहा था। लेकिन पार्षद पद के चुनाव में वह पराजित हो गईं। राजनीति का घटनाक्रम बता रहा है कि पदमा माहेश्वरी निर्विरोध अध्यक्ष की निर्वाचित होने की पूरी पूरी संभावना है।

इस तरह से अब कांग्रेस में सपना पत्नी धर्मेंद्र कुशवाह के नाम की चर्चा है। सूत्रों के अनुसार भाजपा की ओर से पदमा माहेश्वरी और कांग्रेस की ओर से सपना कुशवाह चुनाव मैदान में उतर सकती हैं। लेकिन अभी यह तय नहीं हुआ कि उपाध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस और भाजपा किसे खड़ा करते हैं। परंतु सूत्र बताते हैं कि शायद कोई निर्दलीय पार्षद उपाध्यक्ष बन सकता है।