घर में घुसे लूटेरी कंपनी के कर्मचारी ओवरलोड का डर दिखाया, लूट ले गए रिश्वत में 40 हजार: एई तरवरिया था टीम लीडर- Shivpuri City News

शिवपुरी। जनता से खुलेआम लूट करने वाले शासकीय मान्यता प्राप्त लूटेरा बिजली विभाग ने अपने 2 कर्मचारियों को हटा दिया है। बताया जा रहा हैं कि यह टीम एक घर में घुसी और ओवरलोड के नाम पर उपभोक्ता कोडर दिखाकर 40 हजार रुपए नगद रिश्वत के रूप में सेटलमेंट कर लिया। इस टीम के लीडर थे एई नरेंद्र सिंह तरवरिया, लेकिन विभाग ने एई पर कोई कार्यवाही नही करते हुए उनके रुपए वसूलने वाले और डर दिखाने वाले 2 आउटसोर्स कर्मियों पर कार्यवाही करते हुए उन्है हटा दिया।

यह था मामला
शहर के न्यू ब्लॉक एरिया में रहने वाले हिमांशु अग्रवाल के घर पर बीते 8 दिसंबर को बिजली कंपनी की टीम आई। हिमांशु ने बताया कि इस टीम में अखैराज शाक्य,विनोद शर्मा व एई नरेंद्र सिंह तरवरिया वाहन से आए थे। टीम ने लोड चेक करने के नाम पर चेकिंग की और 9 किलोवाट से अधिक लोड बताते हुए सवा लाख की पेनल्टी निकाल दी।

बकोल हिमांशु जब मैने कहा कि हम तो एक नंबर में लाइट जलाते हैं और समय पर बिजली के बिल जमा करते हैं तो कर्मचारियों ने कहा कि आप बिजली चोरी नही करते लेकिन आपके घर में तयशुदा लोड से अधिक खर्च हो रहा है लोड ज्यादा हैं इस कारण यह पेनल्टी बन रही हैं अगर बिजली चोरी करते तो तीन गुना पेनल्टी लगती।

लेन देन और सेटलमेंट की शुरुआत हुई। कर्मचारियों ने पहले 60 हजार रुपए मांगे,लेकिन 40 हजार रुपए में मामला सुलट गया। इस पूरे घटनाक्रम के समय एई तरवरिया अपने वाहन में बैठे रहे। 40 हजार की रसीद मांगने पर हिमांशु को रसीद नही दी गई।

मीटर सही होने पर लोड की पेनल्टी नही लगती

हिमांशु को ज्ञात हुआ कि अगर आप का मीटर सही हैं तो अतिरिक्त लोड की पेनल्टी नही लगती हैं। वही इसी घर के आसपास ही रहने वाले नारायण सोनी,पंकज गर्ग,सीताराम अग्रवाल आदि ने भी बताया कि ऐसा ही हमारे साथ बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने किया हैं सभी ने मिलकर उक्त मामले की लिखित शिकायत की। बताया जा रहा है कि इस मामले की जांच करने ग्वालियर से चीफ इंजीनियर राजीव गुप्ता शिवपुरी आए थे शिकायतकर्ता से बातचीत की और इसके बाद यह कार्रवाई की गई,लेकिन अपने वाहन में बैठे जनता को डर दिखाकर वसूली करने वाले अधिकारी एई के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की गई।

अनियमितता की थी शिकायत

हमारी कंपनी में काम करने वाल आउटसोर्स कर्मचारी अखैराज शाक्य व विनोद कुमार शर्मा द्वारा  अनियमितता किए जाने की शिकायत मिल रही थी। एक शिकायत की जांच में उन्है गलत पाते हुए सेवा से हटा दिया हैं। AE तरवरिया की जांच चल रही है।
पीआर पाराशर,महाप्रबंधक बिजली कंपनी शिवपुरी