हर 100 कदम पर एक मंच स्वागत के लिए था तैयार,3 किमी का सफर तय किया 3 घंटे में सिंधिया सरकार ने- Shivpuri News

शिवपुरी। ग्वालियर राजघराने के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया नागरिक उड्डयन मंत्री बनने के बाद शरिवार की शाम को पहली बार शिवपुरी आए तो उनके समर्थको ने ऐताहासिक स्वागत किया। हर 100 कदम की दूरी पर एक मंच था सिंधिया के स्वागत के लिए,सिंधिया का रोड शो लगभग शहर में 3 किमी का था और इसे तय करने में सिंधिया को 3 घंटे से अधिक का समय लगा।

देर शाम जब सिंधिया अपने काफिले के साथ शहर में दाखिल हुए तो प्रवेश करने के साथ स्वागत का सिलसिला शुरू हो गया। हजारों की संख्या में उनके समर्थक स्वागत के लिए खड़े थे। खुले वाहन में सिंधिया पूरे शहर का अभिवादन लेकर रोड शो के रूप में आगे बढ़ रहे थे। 50 से भी ज्यादा जगह पर उनके स्वागत के लिए मंच सजाए गए।

रोड शो करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया माधवचौक चौराहे पहुंचे और माधौ महाराज की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया। उल्लेखनीय है कि सिंधिया मंत्री बनने के बाद इसके पहले अल्पप्रवास पर शिवपुरी आ चुके हैं, लेकिन शहर की जनता से वे शनिवार को सीधे रूबरू हुए। जितना उत्साह सिंधिया को लेकर समर्थकों में था उतना ही उत्साह आमजन में भी देखने को मिला।

रोड शो करीब 3 घंटे तक चला। गुना बायपास से प्रवेश करते हुए राजेश्वरी रोड़, कोर्ट रोड होते हुए उनका काफिला गुजरा। पुष्प वर्षा के साथ देर रात तक आतिशबाजी होती रही। भाजपा नेता हरवीर रघुवंशी, विजय शर्मा, युवा नेता हरिओम रघुवंशी, डॉ.सुखदेव गौतम,चीनू जैन सहित सैकडो समर्थको ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का स्वागत किया।

हर 100 कदम पर एक मंच सजा, कलाकारों ने दी प्रस्तुतियां

सिंधिया के स्वागत में शहर में हर 100 कदम पर एक मंच सजाया गया था। जब तक सिंधिया वहां नहीं पहुंचे तब तक स्थानीय कलाकार अपनी प्रस्तुतियों के साथ समर्थकों का उत्साह बढ़ा रहे थे। सिंधिया के शक्तिप्रदर्शन के बीच समर्थकों में भी एक होड़ स्वागत की थी। हर नेता में अपने मंच को अधिक भव्य बनाने और दूसरे से बेहतर स्वागत करने की होड़ नजर आई। यह शहर में पटे पड़े पोस्टरों से भी देखी जा सकती थी। अपने नेता के स्वागत के लिए किसी ने कोई कसर नहीं छोड़ी।

रोड शो से दिखाई ताकत!

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस रोड शो के कई राजनैतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में इसे शक्ति प्रदर्शन कहा जा रहा है। वहीं एक वर्ग का कहना है कि शिवपुरी में सिंधिया को शक्ति प्रदर्शन की जरूरत नहीं है क्योंकि यह हमेशा ही सिंधिया परिवार का गढ़ रहा है। खैर रोड शो के मायने कुछ भी रहे हैं, लेकिन शहर ने अपने महाराज के स्वागत में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी।