शादी में अव्यवस्थाओं को देखकर भडके दुल्हन के परिजन, बिटिया को विदा करने से इंकार किया - Shivpuri News

शिवपुरी। कल देवउठनी एकादशी के बाद पहला साहलग था। इसी बीच बीती रात जवाहर कॉलोनी में आयोजित एक विवाह समारोह में उस समय हंगामा हो गया, जब ललितपुर से आए वधु पक्ष के लोग वर पक्ष की अव्यवस्थाएं देखकर भड़क गए और उन्होंने वधु की विदा करने से इंकार कर दिया। बाद में यह मामला देहात थाने पहुंचा तो पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच समझौता कराया और अंत में वधु पक्ष ने खुशी-खुशी बिटिया की विदा कराई। यह पूरा मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा।

जानकारी के अनुसार जवाहर कॉलोनी आईटीआई के पीछे रहने वाले जोशी परिवार के संजय जोशी का विवाह ललितपुर की रहने वाली युवती से हुआ था। विवाह से पूर्व वर पक्ष ने वधु पक्ष को शिवपुरी आने का निमंत्रण दिया और उन्हें बताया कि उनके साथ 100 से 150 लोग आएंगे। दोनों के बीच यह तय होने के बाद रविवार को विवाह कार्यक्रम शुरू हुआ और शाम तक ललितपुर निवासी वधु पक्ष अपने 200 लोगों को लेकर शिवपुरी आ गए।

जहां शुरूआत में ही वधु पक्ष के स्वागत को लेकर कहासुनी हुई। बाद में समाज के लोगों ने दोनों के बीच सुलह कराकर विवाह कार्यक्रम आगे बढ़ाने की बात कही। रात्रि में जब भोजन आरंभ हुआ तो वहां भी कुछ अव्यवस्थाएं वधु पक्ष को नजर आईं। जिस पर भी उन्होंने आपत्ति की और रात में जब स्टेज कार्यक्रम से पहले दुल्हन को तैयार कराने के लिए कमरा नहीं मिला तो दुल्हन का भाई आक्रोशित हो गया और उसने हंगामा कर दिया।

इस दौरान भी वधु पक्ष की ओर से आए कुछ बुर्जुगों ने हस्तक्षेप किया और समझाया कि जो कुछ हो गया है, उसे भूल जाओ, खुशी-खुशी बिटिया का कन्यादान करो। रात में जब फेरे होने के बाद वधु पक्ष के आए लोगों ने सोने की इच्छा जाहिर की तो उन्हें न तो सोने के लिए कोई स्थान मिला और न ही ओढऩे बिछाने के लिए बिस्तर। जिस पर वधु पक्ष का धैर्य टूट गया और वहां जमकर हंगामा हो गया।

हंगामा इतना हुआ कि रात में ही वधु और वर पक्ष के लोग थाने आ गए। जहां वधु पक्ष के लोगों ने वर पक्ष पर आरोप लगाए और दुल्हन की विदा करने से इंकार कर दिया। घंटों तक चले इस हंगामे के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों के वरिष्ठजनों को बैठाकर बातचीत की और उन्हें समझाया कि जब सारी रस्में पूरी हो गईं हैं और बहू की विदा करनी है तो फिर यह उत्पात क्यों? काफी देर तक पुलिस ने दोनों को समझाने का प्रयास किया।

लेकिन दोनों पक्ष अपनी-अपनी बात पर अड़े रहे। अंत में पुलिस ने दोनों पक्षोंं पर कायमी करने की बात कही तो उन्होंने आपस में राजीनामा करना उचित समझा और समझौते के बाद वधु पक्ष विदा करने के लिए राजी हुआ। अंत में विवाह स्थल पर पहुंचकर विवाह की अंतिम रस्में पूरी हुईं और विदाई के बाद वधु पक्ष अपने शहर ललितपुर के लिए रवाना हो गया।

इनका कहना है-
विवाह समारोह में अव्यवस्थाओं को लेकर वधु पक्ष भड़क गया था और मौके पर झगड़ा होने के बाद दोनों पक्ष थाने आए। जिन्हें बैठाकर सुलह कराई गई। इसके बाद सुबह वधु पक्ष विदाई के लिए राजी हुआ और मामला निपट गया।
विकास यादव, थाना प्रभारी देहात शिवपुरी