देखें भीमपुर पंचायत सचिव का कमाल: 8 लाख हडपे, कागजों में हो गई बाउंड्रीवाल, पुलिया का मरम्मत कार्य भी नहीं हुआ- narwar News

नरवर। बैसे तो मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सरकार द्वारा गांवों के विकास, उन्नति एवम खुशहाली के लिए ग्रामपंचायतों के माध्यम से लाखों-करोड़ों रुपये खर्च किये जा रहे हैं लेकिन पंचायत सरपंच-सचिव इस राशि से गांव का विकास न करते हुए खुद की उन्नति,ख़ुशहाली एवम विकास कर रहे हैं।

यह मामला शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा जनपद पंचायत नरवर अंतर्गत ग्राम पंचायत भीमपुर का है जहां पदस्थ सरकारी नुमाइंदा सचिव नरेश मौर्य द्वारा कागजों में कई सारे निर्माण कर लाखों रुपए की राशि हड़प कर जमकर फर्जीवाड़ा किया है।

ग्राम पंचायत भीमपुर सचिव नरेश मौर्य द्वारा प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय की बाउंड्री वॉल के निर्माण की राशि 3,71,950 रुपए साल भर पहले स्वीकृत कर बिना निर्माण काम के निकाल ली गई है तथा चौपाल से रपटा तक नाली निर्माण कार्य की राशि 1,44,700 रूपए को भी बिना निर्माण किए आहरित कर ली गयी है।

साथ ही गांव का रास्ता मरम्मत कार्य राशि 1,30,600 रूपए बिना मरम्मत के पूरी राशि आधारित कर ली एवं पुलिया मरम्मत राशि 26000 और ग्राम पंचायत क्षेत्र में गलियों की सफाई कार्य की राशि 140500 रूपए नालियों की सफाई की राशि 23000 को बिना सफाई कराए आहरित कर हड़प ली गई है।

इस तरह लगभग 800000 रूपए की राशि बिना निर्माण किए ग्राम पंचायत सचिव नरेश मौर्य द्वारा फर्जीवाड़े और भ्रष्टाचार द्वारा हड़प ली गई है। ग्राम पंचायत सचिव नरेश मौर्य द्वारा ग्राम विकास के नाम पर किए गए जमकर भ्रष्टाचार की शिकायत जनप्रतिनिधियों द्वारा शिवपुरी कलेक्टर को की गई लेकिन आज तक भ्रष्टाचारी सचिव के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

इनका कहना है
इस मामले की शिकायत मुझे मीडिया के माध्यम से मिली थी। जिसके चलते हमने जांच की तो पाया कि उक्त पंचायत सचिव ने बिना काम के राशि आहरित कर ली है। मौके पर उस राशि का काम नहीं हुआ। जिसके चलते उक्त पंचायत सचिव को पंचायत से हटाकर कार्यालय में अटैच कर उसके खिलाफ जांच प्रतिवेदन बनाकर निलंबन की कार्यवाही के लिए जिला पंचायत सीईओ के पास भेजा है। वहां से इसपर निलंबन की कार्यवाही होगी।
एन के पाठक,सीईओ जनपद पंचायत नरवर।