पत्रकार अभिषेक शर्मा ने निकाला बोतल से जिन्न बहार, भास्कर ने छापी गुड न्यूज वहीं, पत्रिका ने एक पुराने मामले को हवा दी हैं- Shivpuri News

daily news sen (DNS)शिवपुरी। शिवपुरी प्रिट मीडिया के प्रमुख तीनो समाचार पत्रो ने अपनी लीड खबरो में अलग अलग विषयो को स्थान दिया हैं। नईदुनिया के पत्रकार अभिषेक शर्मा बोतल से जिन्न बहार निकालते हुए अवैध कॉलोनी का मामला प्रकाशित किया हैं। इस मामले में शासन अवैध कॉलानी काटने वालो को नोटिस देकर भूल गया। वही दैनिक भास्कर की लीड खबर में किसानो के खाद संकट को जगह दी है। वही पत्रिका ने अपनी लीड खबर में क्राईम की खबर को स्थान दिया है। इस खबर में पुलिस ने कोलारस की लूट को ट्रेस किया हैं।

नईदुनिया: नईदुनिया समाचार पत्र की शिवपुरी पेज की लीड खबर 57 कॉलानी को चिन्हित किया,नोटिस भी दिए हैं पर कार्रवाई नही शीर्षक से खबर को प्रकाशित किया है। इस खबर के अनुसार प्रशासन ने शहर में धड़ल्ले से कट रही अवैध कॉलोनियों पर प्रशासन लगाम नहीं लगा पा रहा है। 57 अवैध कॉलोनियों को बकायदा प्रशासन द्वारा चिन्हित कर लिया गया है।

इनके कॉलोनाजर्स को नोटिस भी दिया गया, लेकिन तब से आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस बीच गिनी चुनी कार्रवाई हुई भी तो कोर्ट के आदेश या फिर किसी राजनैतिक दबाव में ही हुई हैं। जबकि नगर पालिका पिछले कई सालों से अवैध कॉलोनियों की सूची दबाए हुए बैठा है।

दैनिक भास्कर: दैनिक भास्कर के शिवुपरी भास्कर की लीड खबर में किसानो के खाद संकट को लीड खबर बनाया गया हैं। इस खबर में पिछोर,भौंती और बैराड के खाद संकट की समीक्षा की है। भौंती में प्रशासन ने पुलिस के पहरे में शाम बजे से 8 बजे तक खाद का वितरण करवाया हैं। पिछोर नगर के खाद संकट पर लिखा है कि पिछोर नगर में डीएपी के बाद अब व्यापारी यूरिया खाद के भी दाम किसानो से अधिक बसूल रहे हैं।

यूरिया खाद की सरकारी रेट 270 रूपए बोरी हैं और व्यापारी उन्है 350 रूपए बोरी में बेच रहे हैं। वही बैराड में प्रशासन की छापामार कार्यवाही के बाद अब फुटकर व्यापारी खाद नही मंगा रहे हैं। इस कारण बैराड क्षेत्र के किसानो को पोहरी खाद लेने आना पड रहा हैं और तय दाम से अधिक मूल्य चुकाना पड रहा हैं। कुल मिलाकर इस खबर का स्पष्ट आशय है कि प्रशासन किसानो को खाद संकट से मुक्त नही करा पा रहा हैं।

पत्रिका: पत्रिका समाचार पत्र ने अपने शिवपुरी पत्रिका में कोलारस पुलिस के द्धवारा मंडी के व्यापारी के साथ हुई लूट की घटना को ट्रेस किए जाने की खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया हैं। कटे फटे नोटो को चलाने के फेर में फंस गए मुनीम को लूटने वाले बादमाश,शीर्षक से प्रकाशित खबर में लिखा है कि बीते दिनो कोलारस की कृषि उपज मंडी में व्यापारी के साथ हुई 2 लाख की लूट को ट्रेस करते हुए पुलिस ने 1 लाख 5 हजार रूपए भी बरामद किए हैं।

3 बदमाशो का पकडा गया हैं लूट की वारदात में कोलारस के गोलू उर्फ असद खान का हाथ हैं उसने ही पूरी साजिश रची थी। लूटा गया मुनीम उसका पडौसी था और उसे पता था कि वह प्रतिदिन कितना पैसा ले जाता हैं उसने इस काण्ड में चचेरे भाई साबिर व ममेररे भाई जाहिद सहित 3 अन्य बदमाशो को बताया। इसी सूचना के आधार पर 5 बदमाश गुना से आए और इस लूट काण्ड की वारदात को अंजाम दिया।

वही पात्रिका ने एक पुराने मुद्दे का फिर हवा दी है। पत्रिका ने एक ओर खबर प्रकाशित की हैं जिसमें नगर पालिका में 370 पंप अटेंडरो में से 50 ही काम कर रहे हैं। इन पंप अटेंडरो का वेतन हर माह 22 लाख रूपए हैं। यह पंप अटेंडरो की नियुक्ति पर सवाल खडे किए हैं। अगर सिंध आती हैं तो पंप अटेंडरो की क्या आवश्यकता है। अधिकांश पंप अटेंडर अपना मूल काम छोड दूसरा काम कर रहे हैं और वेतन नपा से ले रहे हैं।

इस मामले में सीएमओ अवस्थी ने माना है कि सिंध प्रतिदिन नही इसलिए पंप अटेंडरो की आवश्यकता हैं। वही भास्कर ने एक गुड न्यूज का भी प्रकाशन किया हैं कि जिले में कृषि कॉलेज खोलने की तैयारी,प्रस्ताव बनाकर भोपाल भेजा इस कॉलेज को खोलने के लिए 200 बीघा जमीन और 100 करोड रूपए की आवश्यकता होगी। इस कॉलेज के खुलने से 4 जिले छात्रो को फायदा होगा साथ में किसान भी उन्नत खेती के गुर सीख सकते हैं।