नेशनल पेंशन स्कीम एक छलावे की तरह है, पुरानी पेंशन बहाली एवं क्रमोन्नति को लेकर अध्यापक संघ ने सौंपा ज्ञापन- Shivpuri News

शिवपुरी। शासकीय सेवक सेतु भारत (राइजिंग आजाद मिशन फॉर ओल्ड पेंशन) आजाद अध्यापक संघ ने पुरानी पेंशन बहाल करने एवं वर्ष 2006 के बाद नियुक्त अध्यापकों के क्रमोन्नति आदेश जारी करने जैसी मांगों को लेकर डिप्टी कलेक्टर मनोज गरवाल को माननीय प्रधानमंत्री एवं माननीय मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन गत दिवस सौंपा है।

आजाद अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष सुनील वर्मा एवं शासकीय सेवक सेतु भारत के जिलाध्यक्ष अमरदीप श्रीवास्तव ने संयुक्त रुप से बताया कि 2005 के बाद नियुक्त शासकीय कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बंद करके नेशनल पेंशन स्कीम एक छलावे के रूप में दी गई है जो शासकीय कर्मचारियों को बिल्कुल ही स्वीकार नहीं है। वर्तमान में बाजार आधारित नेशनल पेंशन स्कीम में सेवानिवृत्त होने वाले कतिपय कर्मचारियों को 500 रुपए से लेकर 1500 रुपए तक मासिक पेंशन मिलती है जिससे बुढ़ापे की चिंता शासकीय सेवकों को सता रही है।

इसका त्वरित निदान कर पुरानी पेंशन प्रदान की जाए एवं आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा अध्यापक संवर्ग को नियमानुसार मिल रही क्रमोन्नति को निरस्त कर दिया गया है जो कि अन्याय पूर्ण है माननीय मुख्यमंत्री जी से अनुरोध है कि अध्यापक संवर्ग की क्रमोन्नति पर रोक लगाने संबंधी आदेश को निरस्त किया जाए तथा शिक्षकों के राज्य शिक्षा सेवा में नियुक्त अध्यापक संवर्ग की सेवा अवधि एवं वरिष्ठता की गणना प्रथम नियुक्ति दिनांक से करके उनके क्रमोन्नति आदेश शीघ्र ही जारी करने का स्पष्ट आदेश निकाला जाए अन्यथा की स्थिति में अध्यापकों को आंदोलन करने को विवश होना पड़ेगा

ज्ञापन कार्यक्रम मे के पी जैन जिला संयोजक अरविंद सरैया प्रांतीय सदस्य रिजवाना खान महिला जिलाध्यक्ष तनुजा गर्ग संभागीय सचिव प्रदीप नरवरिया राजेश खत्री कार्यकारी जिलाध्यक्ष बल्लभ आदिवासी जिला उपाध्यक्ष जीतेंद्र शर्मा दौलतराम धाकड़ जिला मीडिया प्रभारी कुबेर कुशवाह जिला सचिव श्रीमती सविता अग्रवाल जी पी शर्मा अनिल मलावरिया श्रीनिवास भार्गव आदर्श सिरोठिया , सुगन चंद ओझा दीपक कुमार भार्गव आदि प्रमुख रूप से उपस्थित रहे