जन्म से गूंगे बहरे हैं देवकी, दिव्याश, राज सहित 7 बच्चे का होगा नि:शुल्क आपरेशन : वरदान बनी RBC के योजना- Shivpuri News

शिवपुरी। जन्म से ही गूंगे-बहरे देवकी, दिव्यांश और राज सहित सात बच्चों की तकदीर बदलेगी, वह राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अन्तर्गत मिलने वाली सरकारी सहायता से निशुल्क आपरेशन कराने के उपरांत बोलने और सुनने लगेंगे।

इतना ही घीरे-घीरे श्रबण क्षमता खोते जा रहे 21 बच्चों की भी निशुल्क कान के आपरेशन होने से उनकी सुनने की क्षमता वापस लौट सकेगी। यह संभव इसलिए हो सका क्योेंकि आज जिला चिकित्सालय शिवपुरी में स्वास्थ्य विभाग द्वारा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अन्तर्गत श्रबण बाधित रोग निदान शिविर का आयोजन किया गया था।

इस शिविर में 70 बच्चों का पंजीयन किया गया। जिसमें से 7 बच्चे काक्लियर इम्पालांट सर्जरी के लिए, 21 बच्चे सीएसओएम सर्जरी के लिए चिन्हाकित किए गए। इसके अलावा दस 7 बर्ष से अधिक उम्र के बच्चों को हयरिंग एड का भी बितरण शिविर के दौरान किया गया।

शिविर का शुभारंभ मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व विधायक प्रहलाद भारती तथा भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष विपुल जैमनी ने दप प्रज्जवलन कर किया। शिविर में शिवपुरी जिले के कोलारस, बदरवास, सतनवाडा, करैरा, पिछोर, खनियाधांना, पोहरी, नरवर सहित शिवपुरी शहरी क्षैत्र के श्रबण बाधित बच्चों ने उपचार के लिए अपना पंजीयन कराया था।

जिन्हें संबोधित करते हुए पूर्व विधायक श्री भारती ने कहा कि मॉ भारती के इन नौनिहालों के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही आरबीएसके स्कीम अपने आप में विशेष है क्योंकि इसमें अमीर गरीब, जात पात नही बल्कि बच्चे के रोगी होने पर उसका उपचार कराया जाता है। इसके लिए सरकार साढे छः लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान कर रही है। अधिक से अधिक लोगों को इस योजना का लाभ लेना चाहिए।

कार्यक्रम में भाजपा मंडल अध्यक्ष विपुल जैमनी ने योजना अन्तर्गत आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सरकार की प्रसन्नसा की। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पवन जैन ने राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अन्तर्गत तथा उसके होने वाले विभिन्न निशुल्क आपरेशन के बारे में जानकारी प्रदान की और अपील की नन्हें बच्चों के जीवन में बदलाव लाने के लिए सभी मिलकर सहयोग करें।

शिविर में मुख्य रूप से सिविल सर्जन डॉ राजकुमार ऋषीश्वर, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एनएस चौहान, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ संजय ऋषीश्वर, डीएचओ डॉ. रोहित भदकारिया, आरएमओ डॉ सुनील कुमार सहित आरबीएसके चिकित्सक, डीईआईसी स्टाफ व ग्रामीण क्षैत्रों से आए नागरिक उपस्थित थे।