यह है भाजपा का विकास:10 करोड खर्च फिर भी पानी की टंकियां सूखी, बंद पडी योजना के मेंनिटेंस पर भी खर्च- Badarwas News

संजीव जाट@बदरवास। ग्रामीणो का जीवन स्तर और समय की बचत करने के लिए मप्र शासन ने जिले के बदरवास जनपद पंचायत की 27 ग्राम पंचायतो को नल जल योजना की स्वीकृती प्रदान की थी। इस योजना में पूरे 10 करोड रूपए खर्च हो चुके हैं,फिर भी पानी की टंकिया प्यासी हैं। अब टंकीयो के कंठ सूखे है तो ग्रामीणो के कंठ कैसे तर होगें। पूरी की पूरी योजना भ्रष्टाचार में वह गई। गंभीर लापरवाही इस योजना के क्रियानवयन में उजगार हो रही है।

यह हैं हालात
बदरवास जनपद की 27 ग्राम पंचायते,सभी में योजना स्वीकृत हो कर काम शुरू किया गया। इस योजना का मुख्य उद्देशय गांव के हर गांव में पानी पहुंचेगा,लेकिन पानी की टंकी बनाई तो कही पाइप लाइन अधूंरी,कही टकी लीकेज, आज 10 वर्ष में भी 10 करोड़ आहरण हुए है लेकिन काम अभी तक अधूरा इस मामले को लेकर जनपद पीएचई तो पीएचई जनपद पंचायत के सरपंचों को दोषी मानती जी दोनो एक दूसरे पाए आरोप प्रत्यारोप लगा रहे है जबकि राशि आहरण हो चुका हैं। सबसे बड़ी बिडम्बना जो सामने आई है जब नलजल योजना अपूर्ण है तो उसके मेनटिनेंस के लिए हर वर्ष लाखो रुपए निकाले जा रहे है

अगर देखा जाए तो एक नलजल योजना ग्रामीण क्षेत्र में 35 लाख रुपये की लागत से निर्माण की गई जिसमें पानी की टंकी बोरिंग एव पाइपलाइन शामिल है लेकिन मौके पर हालात ही कुछ और है कही पानी की टंकी बनी हुई है तो कहीं पाइप लाइन नहीं बिछाई गई तो कहीं बोरिंग में मोटर डालकर पानी सप्लाई की जा रही है इस प्रकार यह करोड़ों रुपए पीएचई विभाग के द्वारा खुर्द खुर्द कर दिए हैं अब जब नल जल योजना जिस ग्राम के लिए स्वीकृत की गई है उस ग्राम में वह पूर्णता नहीं बनाई गई तो फिर मेंटेनेंस के लिए राशी क्यों निकाली जा रही हैं।

ऐसे समझे
वर्तमान में देखे तो बदरवास जनपद की ग्राम पंचायत मौके पर जाकर देखा तो कागजों में तो विधिवत कनेक्शन एवं नल जल योजना प्रारंभ है लेकिन वर्तमान में मौके पर पड़ताल की जाए तो हालात कुछ और ही है जैसे कि ग्राम पंचायत बामोर यह नल जल योजना के पाइपलाइन पानी की टंकी तो है ही नहीं जो पानी की टंकी है वह टूटी फूटी पड़ी हुई है जबकि कागजों में पूर्णता संचालित है इसके अलावा ग्राम में मेघोनाबड़ा में पानी की टंकी लीकेज होने के कारण बंद पड़ी है वही कनेक्शन की पाइपलाइन अभी भी है वह भी कनेक्शन नहीं हुए किसी प्रकार से चालू नहीं है ग्राम पंचायत बारई यहां पानी की टंकी नल कनेक्शन नहीं है या प्राइवेट लोगों के द्वारा पानी विक्रय किया जाता है।

प्रत्येक योजना की राशि 36 लाख

अगर रिकॉर्ड के अनुसार देखा जाए तो बदरवास जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली 27 ग्राम पंचायतों में पीएचई विभाग के द्वारा नजर योजनाएं स्वीकृत की गई थी वह स्वीकृति के बाद उनका निर्माण कार्य भी हुआ उक्त निर्माण कार्य में 3500000 रुपए एक नल जल योजना के हिसाब से खर्च किया गया लेकिन मौके पर कुछ और ही नजारा है।

क्या कहते है सरपंच
पानी की टंकी लीकेज है और पाइप लाइन बिछाई है वह भी पानी नही आता है और पूर्णता शोपीस है। 

मामला गम्भीर है इसको दिखबाते है प्रत्येक ग्राम बार समीक्षा की जाएगी जो भी दोषी होगा कार्यवाही की जाएगी
अक्षय सिंह कलेक्टर,शिवपुरी

अभी में क्षेत्र में हु आपके पास आकर बैठक बात करते है। विस्तार से जानकारी दे दूँगा। ओपी राजपूत, इंजियनर पीएचई बदरवास

हमे कोई जानकारी नही देते है तो हम इसबारे में कुछ नही बता सकते है। एलएन पिप्पल, सीईओ जनपद बदरवास