SSS गोली काण्ड के मुख्य आरोपी IPS चौहान को पुलिस अभिरक्षा में सब इंस्पेक्टर ने दी एनकाउंटर की धमकी

शिवपुरी। शहर के बहुचर्चित पूर्व डीएसपी सुरेश सिंह सिकरवार को गोली मारने के आरोप में शिवपुरी जेल में बंद विचाराधीन कैदी आईपीएस चौहान (इंद्र प्रताप सिंह चौहान) उर्फ सौरभ सिंह चौहान को पुलिस अभिरक्षा में न्यायालय से धमकी मिली हैं। यह आरोप आईपीएस चौहान ने अपने वकील के माध्यम से सीजेएम के समक्ष लगाया है। जहां माननीय न्यायालय ने इस मामले में जांच के आदेश दिए है।

जानकारी के अनुसार इंद्र प्रताप सिंह चौहान पर कुछ दिनों पूर्व डीएसपी सुरेश सिंह सिकरवार को गोली मारने का आरोप लगा था। जिसके चलते पुलिस ने सौरभ चौहान (आईपीएस चौहान) पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया था। इस मामले में पुलिस सौरभ सिंह चौहान ने लंबे समय बाद पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल के समक्ष आत्मसमर्पण करते हुए अपनी जान को खतरा बताया।

जिसके चलते पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से उक्त आरोपी को जेल भेज दिया। परंतु अब जेल से न्यायालय में पेशी पर आने के दौरान विचाराधीन कैदी सौरभ चौहान (आईपीएस चौहान) के वकील ओपी चतुर्वेदी द्वारा सौरभ सिंह की शिकायत मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष पेश करते हुए धमकाने का आरोप लगाया है। इस मामले में माननीय न्यायालय ने आरोपों की जांच कराए जाने का आदेश दिया है।

आईपीएस के भाई सूरज चौहान पुत्र अनूप सिंह चौहान द्वारा सीजेएम कोर्ट में प्रस्तुत किए गए आवेदन के संबंध में जानकारी देते हुए एडवोकेट ओम प्रकाश चतुर्वेदी ने बताया कि सौरभ सिंह उर्फ इंद्रजीत सिंह चौहान पुत्र अनूप सिंह चौहान प्रकरण क्रमांक 650 /16 के विचारण के क्रम में न्यायालय द्वारा आज कोर्ट पेशी पर तलब किया गया था। इसी दौरान जब वह कोर्ट परिसर में स्थित पुलिस लॉकअप में बंद था।

उसी समय कोतवाली पुलिस की एक गाड़ी वहां पहुंची और उसमें से उतरे सब इंस्पेक्टर चेतन शर्मा तथा एक अन्य सब इंस्पेक्टर ने लॉकअप में घुसकर सौरभ चौहान को बाल पकड़कर मारा पीटा तथा साथ में मौजूद आरक्षकों से कथित तौर पर यह भी कहा कि यह वही है जिसने डीएसपी लहरी साहब पर गोली चलाई थी इसे भगाओ और भागने की कोशिश में इसे गोली मारेंगे, इसे एनकाउंटर में मार देंगे। सौरभ चौहान की ओर से यह आवेदन सीजेएम कोर्ट में अभिभाषक के माध्यम से दिया गया। सीजेएम ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।