700 बीघा वनभूमि पर खेती करने के लिए डाला हैंडपंप में जहर,मंदिर पर किया दबंगो पर कब्जा: हैडपंप सील - Pichhore News

पिछोर। खबर जिले के पिछोर अनुविभाग के मायापुर थाना अंतर्गत आने वाले गांव राजौर महुआखेडा गांव से आ रही है कि गांव के दंबगो ने वनविभाग की जमीन पर अवैध गतिविधि सुचारू रूप से चले इसलिए गांव के एक हैंडपंप में जहर मिला देने की घटना सामने आई हैं,वही बताया जा रहा है कि मंदिर पर भी कब्जा कर लिया गया हैं। मामला एक आवेदन के रूप में एसपी शिवपुरी राजेश सिंह चंदेल के पास पहुंचा हैं।

जानकारी के अनुसार पिछोर ब्लॉक के राजौर महुआखेड़ा गांव के राजू सिंह लोधी, सनमान सिंह गुर्जर, रमेश परिहार सिया बाई सहित अन्य ग्रामीण बुधवार की शाम 5:30 बजे एसपी ऑफिस पहुंचे। एसपी के नाम लिखित शिकायत दर्ज करा दी है। ग्रामीणों का कहना है कि बंटी चौहान निवासी बेरखेड़ा तहसील करैरा ने 14-15 सितंबर की दरम्यानी रात 1 बजे हैंडपंप में शासकीय हैंडपंप में कीटनाशक दवा डाल दी।

रात में गांव के जगभान सिंह ने जहरीली दवा डालते समय बंटी को देख लिया। अगले दिन पूरा गांव को आगाह कर दिया। इस हैंडपंप से गांव के करीब 34 परिवार पीने का पानी भरते हैं।

नाराज ग्रामीण इकट्ठे होकर मायापुर थाने पहुंच गए। वहीं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने गांव के हैंडपंप के पानी का सैंपल जांच के लिए मंगवाया है। साथ ही हैंडपंप को फिलहाल बंद करा दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि खेती के लिए राजौर गांव से लगे जंगल में खड़े हरे-भरे पेड़ काट दिए हैं। करीब 700 बीघा जमीन पर कब्जा है। हरियाली बचाने के लिए कुछ ग्रामीणों ने वन विभाग में लिखित शिकायत कर दी थी। इसी का खामियाजा ग्रामीणों को उठाना पड़ रहा हैं।

पीएचई ने लिया हैंडपंप के पानी सैंपल

पिछोर पीएचई के सबइंजीनियर आशीष परिहार बुधवार को राजौर गावं पहुंचे। हैंडपंप से पानी का सैंपल लिया हैं। ग्रामीणो का मौके पर पंचनामा बनाकर फिलहाल हैंडपंप को बंद कर दिया हैं। जांच केलिए सैंपल जिला मुख्यालय शिवपुरी की लैब के लिए भेजा हैं। रिर्पोट आने के बाद ही जहर की कहानी का पता सत्यता का पता चलेगा।

अवैध खेती को लेकर मंदिर पर कब्जा

बताया जा रहा है कि वनविभाग की जमीन मंदिर क्षेत्र से लगी हैं। अवैध गतिविधियो पर नजर न पडे इस कारण मंदिर पर कब्जा कर लिया गया हैं ग्रामीण जसवतं सिंह गुर्जर,कमल सिंह गुर्जर,दानसिंह गुर्जर और इनके परिवार के सदस्यो ने हनुमान जी और देवी मंदिर में प्रवेश पर रोक लगा दी हैं।

क्यो कि इन मंदिरो से वन भुमि मे हो रही खेती साफ नजर आती हैं उक्त दबंग लोग धमकी देते हैं कि मंदिरो से जाने में तुम्हारे जाने से भगवान अछूत हो जाते हैं,अगर तुमने मंदिर में कदम रखा तो तुम्हे जाने से मार देंगेें।