मंगल मसाले वालो के प्लॉट पर कब्जा कर निर्माण कर रहे थे होटल राज पैलेस के मालिक: 3 पर मामला दर्ज

शिवपुरी। शहर में फिर जमीन के विवाद के विवाद के लेकर फिर खबर आ रही हैं इस बार विवाद शहर के दो बडे कारोबारी में आपस भी भिड गए। इस विवाद में होटल राज पैलेस के मालिक सहित 3 लोगो पर सिटी कोतवाली में मामला दर्ज किया गया हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगल मसाले वाले नितिन अग्रवाल और होटल राज पैलेस के मालिक राजमल गुप्ता के बीच दर्रोनी तिराहे पर िस्थत एक जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। दोनों पक्ष जमीन के कागज होने की बात कह रहे थे। दो दिन पहले ही जब विवाद की स्थिती बनी तो पुलिस ने दोनों पक्षों को बैठाकर समझाया था कि जब तक जमीन का सीमांकन नहीं हो जाता तब तक कोई भी निर्माण न करे।

इसके बाद भी राजमल गुप्ता ने गुंडों की सहायता से वहां पर मंगलवार को बाउंड्री का निर्माण शुरू करा दिया। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची। तब राजमल गुप्ता गुंडों के साथ वहां बैठे हुए थे। उनके पास उनकी लाइसेंसी रिवॉल्वर भी थी। पुलिस ने पहुंचते ही सबसे पहले वहां मौजूद गुंडों को जमकर पीटा और फिर सभी को कोतवाली ले आई।

यहां पुलिस ने नितिन अग्रवाल पुत्र राजकुमार अग्रवाल निवासी मंगल मसाले वाले गली की शिकायत पर राजमल गुप्ता सहित तीन अन्य पर मामला दर्ज कर लिया है। राजमल गुप्ता के साथ प्रभात रावत निवासी सिंहनिवास, पृथ्वी यादव और जय कुमार रजक भी थे जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपितों की पुरानी कुंडली भी निकाली है जो केस के साथ पेश की जाएगी। इसमें प्रभात रावत पर 5 से अधिक मामले दर्ज बताए जा रहे हैं।

नेताओं का लगा जमावड़ा, आते रहे सिफारिशी फोन

जमीन के इस विवाद में एक बार फिर रसूखदार आमने-सामने हो गए। राजमल गुप्ता पर मामला दर्ज होने के बाद उन्हें और उनके साथियों को बचाने व मामले में प्राथमिकी दर्ज न होने के लिए कई कांग्रेसी नेताओं ने टीआइ को फोन लगाए। कुछ स्थानीय नेता कोतवाली भी पहुंचे। हालांकि टीआइ बादाम सिंह यादव ने किसी की एक नहीं सुनी और एफआइआर दर्ज कर ली। बताया जा रहा है कि नितिन अग्रवाल की ओर से भी कुछ बड़े नेताओं के फोन पुलिस के पास पहुंचे थे।

10 लाख रुपये मांगने और रिवॉल्वर तानने का भी आरोप

नितिन ने राजमल गुप्ता पर 10 लाख रुपये मांगने का भी आरोप लगाया है। उसके अनुसार जब वह जमीन पर पहुंचा तो राजमल पहले से वहां मौजूद था और मजदूरों से काम करा रहा था। नितिन ने कहा कि यह जमीन मेरी है तो उससे कहा कि 10 लाख रुपये देगा तो जमीन छोड़ दूंगा।

इस दौरान मुंहवाद हुआ तो राजमल गुप्ता ने नितिन पर रिवाॅल्वर भी तान दी। इसके बाद शिकायत करने नितिन कोतवाली पहुंचा। शिकायत मिलने पर टीआइ बादाम सिंह दल-बल के साथ मौके पर पहुंच गए और सभी को थाने ले आए। बताया जा रहा है कि इस मामले में दोनों पक्षों के पास कागज मौजूद हैं। जमीन का सीमांकन भी होना है। मंगलवार को नितिन अग्रवाल पक्ष को इस मामले में स्टे मिल रहा था जिसके चलते दूसरे पक्ष से राजमल गुप्ता ने स्टे मिलने के पहले निर्माण शुरू करा दिया।