कर्मचारी संगठनों की सशक्त पहचान थे स्व मदन मोहन शाही: प्रहलाद भारती- Shivpuri News

शिवपुरी। शासकीय सेवा में रहकर संगठनात्मक रूप से कर्मचारियों के लिए अपना बलिदान और समर्पण भाव रखने वाले विरले ही होते है उन्हीं में शामिल है कर्मचारी और कर्मचारी संगठनों की सशक्त पहचान के रूप में पहचाने जाने वाले स्व.मदन मोहन शाही जिन्होंने अपने जीवन में जो था।

वह सभी को दिया और कर्मचारियों के लिए वह बलिदानी थे जिन्होंने अपने वेतन से मिलने वाली राशि को भी कर्मचारियों के हितों में समर्पित कर दी, आज उनकी स्मृतियों को मप्र वन कर्मचारी संघ के द्वारा शाही सम्मान के रूप में संजोया जा रहा नि:संदेह यह सभी संदेश सभी शासकीय कर्मचारियों में जाएगा और वह स्व.शाही के जीवन पर चलने की प्रेरणा लेंगें।

उक्त उद्गार प्रकट किए पूर्व विधायक प्रहलाद भारती ने जो स्थानीय कर्मचारी भवन कोठी नं.14 पर मप्र वन कर्मचारी संघ द्वारा मनाई जा रही कर्मचारी नेता स्व.मदन मोहन शाही की 34वीं पुण्यतिथि पर आयोजित शाही सम्मान कार्यक्रम को मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित कर रहे थे।

इस दौरान कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार प्रमोद भार्गव, मप्र वन कर्मचारी संघ के उप प्रांताध्यक्ष नरेन्द्र गौतम, समाजसेवी राजू यादव ग्वाल मोजूद रहे जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता मप्र वन कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष आमोदी तिवारी ने की। इस दौरान कार्यक्रम का सफल संचालन व आभार मप्र वन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष दुर्गा ग्वाल ने किया। यहां 30 से अधिक सेवानिवृत्त कर्मचारियों को स्व.शाही सम्मान स्वरूप माल्यार्पण करते हुए श्रीरामचरितमानस पुस्तक, तुलसी का पौधा, राम-नाम अंकित पुस्तिका प्रदान की गई।

इस अवसर पर यह कार्यक्रम सभी सेवानिवृत्त कर्मचारियों को सम्मानित कर उनके भावी भविष्य की शुभकामनाऐं देकर यह उनके नए जीवन की शुरूआत के रूप में निरूपित किया गया। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार प्रमोद भार्गव ने स्व.मदन मोहन शाही के जीवन वृतान्त पर विस्तृत प्रकाश डाला और किस तरह उनका एक घटना में बीच-बचाव के दौरान निधन हो गया, के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस अवसर पर बृजेश भार्गव, राजेन्द्र शर्मा, अखिलेश चतुर्वेदी, अरूण मिश्रा, ओमप्रकाश शर्मा, पुरूषोत्तम यादव, मदन यादव, राजेश शर्मा, मुकेश श्रीवास्तव, प्रेमनारायण सेन, अनिल शर्मा, महेश रजक आदि सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

स्व.शाही के जीवन से प्रेरणा लें कर्मचारी : आमोद तिवारी

मप्र वन कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष आमोद तिवारी ने इस अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि शासकीय सेवा में रहते हुए जिन कर्मचारियों ने अपने जीवन में बदलाव नहीं देखा वह कर्मचारी नेता स्व.मदनमोहन शाही के जीवन से प्रेरणा लें, जिन्होंने अपने संघर्ष के बलिदान से इस कर्मचारी भवन का निर्माण कराया।

आज उन्हीं पदचिह्नों पर मप्र वन कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष दुर्गा ग्वाल चल रहे है जो आज भी कर्मचारियों के साथ होने वाले अन्याय, अत्याचार व शोषण को बर्दाश्त नहीं करते, जब भी कर्मचारी पर कोई विपदा आती है तो वह सहर्ष आगे आकर अपने संगठन के बैनर तले अग्रिम पंक्ति में आकर खड़े हो जाते है ऐसे कर्मचारियों से ही शासकीय कर्मचारी अपने पूरे जीवन काल में अनेकों योजनाओं का लाभ ले पाते है, इसलिए अब सेवानिवृत्त होकर भले ही आप शासकीय सेवा से निवृत्त हो गए हो लेकिन कार्यकाल के दौरान कर्मचारी संघ द्वारा किए गए कार्यों को अपने सहयोगी साथियों को जरूर बताए ताकि वह भी इसी तरह से संगठित होकर कार्य कर सकेें।

स्व.शाही सम्मान से सेवानिवृत्त कर्मचारी हुए सम्मानित

स्व.मदन मोहन शाही स्मृति में शाही सम्मान से जिन कर्मचारियों को सम्मानित किया गया उनमें वन मण्डल से स.ग्रे.2 विजय कुमार जैन, वनपाल जानकी लाल यादव, भगवत सिंह यादव बदरवास, मा.रा.उ. से वनक्षेत्रपाल एल.पी.आर्य, उ.व.क्षे.पाल गुन्दाराम जाटव पिछोर, वृत्त शिवपुरी से मा.चि.कपिल अहमद शिवानी, वन मण्डल स्थानीय कर्मचारी चिन्टू कुशवाह, मा.रा.उ. से व.क्षे.उदयभान मांझी, स्थाई कर्मचारी सतीश शर्मा, कोलारस से वनपाल रघुवीर सिंह हलोधी, मा.रा.उ. सहा.ग्रे.2 अशोक कुमार कोरकू

सतनबाड़ा वनपाल राधेश्याम वैश्य, मा.रा.उ. वन रक्षक मेहरबान सिंह राजपूत, पिछोर से वन रक्षक दान सिंह ठाकुर, वनमण्डल शिवपुरी के स्थाई कर्मचारी लखन पाल, वन वृत्त शिवपुरी के सहा.ग्रे.3 बद्रीपुरी, बदरवास से वनपाल, पुरूषोत्तम शर्मा, वन रक्षक शिवपुरी रामसनेही शर्मा, वन मण्डल स्थाई कर्मचारी अजमेर सिंह तोमर, सतनबाड़ा वनपाल सुरेश कुमार भदौरिया, बदरवास से वनपाल भगवान लाल शर्मा, वनवृत्त शिवपुरी सहा.ग्रे.3 लखन भटनागर, करैरा से वन रक्षक गोपालकृष्ण तिवारी, मा.रा.उ.वाहन चालक पूरन सिंह ठाकुर, लिपिक नपा मदन लाल यादव, कूनो अ.शिवपुरी वन क्षे.विष्णु कुमार शर्मा, वन मण्डल स्थाई कर्मचारी भान सिंह यादव, उ.व.क्षें.शिवपुरी से महेश कुमार शर्मा, पिछोर से वनपाल रघुवीर सिंह यादव व वन विद्यालय से स्थाई कर्मचारी रामस्वरूप वर्मा शामिल है।