कीचड से भरी सिंध ने किया फिल्टर प्लांट जाम, चूना भी ना दिला सकी नगर पालिका: शहर में दौडने लगे टैंकर - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में 1 जून से 1045.76 मिमी बारिश हो चुकी हैं,या यू कह लो कोटे से अधिक बारिश हो चुकी हैं इसके बाद भी शिवपुरी शहर के प्यासे कंठो की प्यास नही बुझ रही हैं। शहर की लगभग 3 लाख की आबादी पेयजल संकट से जूझ रही हैं कारण बताया जा रहा है कि भारी बारिश के कारण कीचड सिंध में समा गई इसके कारण सतनवाडे पर बने फील्टर प्लांट ही जाम हो गया।

जैसा कि विदित है कि 2 अगस्त से जिले में भारी बारिश शुरू हो गई जिससे जिले की सभी नदी नाले उफन गए और तालाब खतरे के निशान के उपर आ गए,जिससे जिले में बाढ जैसी आपदा आ गइ। रविवार से आसमान हल्के हुए तो रविवार को सिंध की सप्लाई शुरू की गई।

रविवार और सोमवार को नलो से आई सिंध अपने साथ कीचड लेकर आई। पानी पीने तो छोडो कपडे और बर्तन में यूज करने लायक भी नही आया। हाथ धोते तो हाथ भी गंदे हो रहे थे,इस कारण शहर में कई लोग नाराज दिखे सोशल पर कंमेट भी आने लगे।

भारी बारिश में टैंकर आ रहे हैं: फील्टर प्लांट के फील्टर तक जाम

सिंध से लगातार कीचड आ रही हैं पानी यूज करने लायक नही हैं इस कारण आमजन टैंकर बुलाने शुरू कर दिए है। जिम्मेदार फोन नही उठा रहे हैंं। बताया जा रहा है कि सिंध नदी में आए सैलाब के कारण पानी अत्याधिक गंदा हो गया है।

सिंध से पाईप लाईन से फिल्टर प्लांट सतनवाडा पहुंच गया जिसको संशोधित करने का प्रयास प्लांट में किया गया। बताया जा रहा है कि प्लांट में माईक्रो फिल्टर लगे हैं,जिसमे सूक्ष्म से सूक्ष्म कचरा भी पानी से साफ हो जाता हैं,लेकिन सिंध से पानी अधिक गंदा साथ में कीचड भी आने से प्लांट में लगी फील्टर की प्लटे भी जाम हो गई है।

बताया जा रहा है कि प्लांट पर पानी का फिल्टर करने वाले कर्मचारियो से चूने की डिमांड की थी लेकिन नगर पालिका शिवपुरी प्लांट को चूना तक मुहैया नही करा सकी है। इस मामले में एई सचिन चौहान से बात करने का प्रयास किया तो उनका फोन रिसीव नही हुआ। फिलहाल की स्थिती में फिल्टर प्लांट बद हैं और शहर को पिछले 12 दिन से पीने योग्य पानी नसीव नही हुआ हैं इस कारण जनमानस को इस भरी बरसात में पानी के टैंकरो का सहारा है।