सिंध से शहर में जारी है गंदे पानी की सप्लाई, RO हुए चौक, टंकियों में मटमेला पानी - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर में घटिया निर्माण के चलते सुर्खियों में रही सिंध जलावर्धन योजना अभी पूरी तरह से शहर में कनेक्शन भी नहीं कर पाई है। इससे पहले ही इस योजना की एक और पौल खुल गई। शिवपुरी शहर में आई भारी बारिश के बेग से खूबत घाटी के पास सिंध पेयजल की लाइन ध्वस्त हो गई थी। जिससे 7-8 दिन तक नगर में सिंध के पानी की सप्लाई नहीं हुई। जैसे तैसे लाईन ठीक हुई तो इस लाईन से गंदा पानी आता रहा।

पहले तो गंदे पानी को सप्लाई करने में जिम्मेदार आनाकानी करते रहे। परंतु यह पानी साफ नहीं हुआ तो जिम्मेदारों ने इस दुषित पानी को ही शहर में सप्लाई कर दिया। जिसके चलते सिंध जलावर्धन योजना में पानी को फिल्टर करने के इस प्लांट की पोल खुल गई। इस योजना में काम कर रही कंपनी की जिम्मेदारी है कि वह शहर में पानी को फिल्टर कर पब्लिक के बीच सप्लाई करे। परंतु यहां कोई सुनने बाला नहीं है और लोगों के घरों में यह दूुषित जल सप्लाई किया जा रहा है।

लगातार पिछले 4-5 दिनों से बहुत गंदा पानी नागरिकों को मिल रहा है। जिसे वह किसी भी इस्तेमाल के लायक नहीं मानते। दूषित पेयजल मिलने से बीमारियों का खतरा भी बढ़ रहा है।

हालांकि नगर पालिका के अधिकारियों का कहना है कि सतनवाड़ा फिल्टर प्लांट पर टैंक की सफाई करा दी गई है और एलम ब्लीचिंग की मात्रा भी बढ़ा दी गई है। लेकिन इसके बाद भी दूषित पेयजल सप्लाई हो रहा है। कल और आज अनेक स्थानों पर दूषित पेयजल की सप्लाई हुई। मुख्य नगर पालिका अधिकारी शैलेष अवस्थी ने बताया कि एक-दो दिनों में नलों में साफ पानी पहुंचने लगेगा।

इस पानी के जरिए शहर के लगभग 70 प्रतिशत जनता की प्यास बुझती है। परंतु गंदा पानी आने से लोग इस पानी को नहीं पी पा रहे है। जिनके घरों में आरओ लगे है वह आरओं की मैमरिन भी इस पानी से चौक हो गई है। साथ ही जिन टंकियों में यह पानी पहुंचा है वह टंकी मिट्टी से गंदी हो गई है। जिसे लेकर लोगों में रोश है।