हर्रई पंचायत भवन पर नही किया ध्वजारोहण, फोटो वायरल हुआ तो शाम 4 बजे तिरंगा लगा दिया - Shivpuri News

शिवपुरी
। बैसे तो शिवपुरी जिला हमेशा से भ्रष्टाचार के मामले में सुर्खियां बटोरता रहा है। शौचालय से लेकर पीएम आवास सहित ऐसी कोई योजना धरातल पर नहीं है जिसमें घोटाला सामने नहीं आया हो। परंतु कल जो मामला समाने आया वह चौकाने बाला था। जिले के पोहरी जनपद में खुलेआम तिरंगे का अपमान किया गया।

ग्रामीणों ने रोष जताया तो 4 बजे झंडा लगा दिया

दरअसल हुआ यह कि पोहरी जनपद के ग्राम पंचायत हर्रई में पंचायत भवन पर सरपंच और सचिव ने तिरंगा फहराना तक उचित नहीं समझा। जिसके चलते ग्रामीणों ने रोष व्यक्त करते हुए बिना तिरंगे के पंचायत भवन का फोटो अपलोड कर दिया। बस फिर क्या था फोटो अपलोड होते ही यहां पदस्थ सचिव और सरपंच के हाथ पैर फूलने लगे तत्काल वह पंचायत भवन पर पहुंचे और शाम लगभग 4 बजे ध्वजा रोहण किया।

अब 4 बजे जो ध्वजारोहण हुआ उसका भी स्थानीय लोगों ने फोटो लिया और उसे भी शोसल मीडिया पर बायरल कर दिया। अब जनप्रतिनिधियों द्धारा तिरंगे के अपमान का यह नजारा पूरे जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

अब इस मामले में सच्चाई क्या है यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट होगा। अगर इस मामले में अगर 4 बजे ध्वजारोहण किया गया है तो जिम्मेदारों पर कार्यवाही होना चाहिए। अगर इस मामले को वहां के लोगों ने गलत तरीके से शोसल मीडिया पर डाला है तो उनपर कार्यवाही होना चाहिए। अब जो भी हो मामला जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा।  

इनका कहना है
यह मामला आपके द्धारा मेरे संज्ञान में लाया गया है। अगर ऐसा हुआ है तो वह गलत में में तहसीलदार और सीईओं से बात करता हूं। अगर ऐसा हुआ तो जिम्मेदारों पर कार्यवाही की जाएगी।
राजन नाडिया,एसडीएम पोहरी

यह हर्रई का पहला मामला नहीं है। यहां इस तरह के आरोप लगातार लगते आए है। कल जैसे ही मुझे इस मामले की जानकारी लगी तो मेने शेरसिंह से अपना बाट्सऐप ग्रुप चैक कराया। जिसमें हर्रई से 12 बजे फोटो आ गए थे।
फिर भी अगर ऐसा हुआ है तो हम जांच करा लेते है।
शैलेन्द्र आदिवासी,सीईओ जनपद पंचायत पोहरी।

में तो वहां जीआरएस हूं। हमारे यहां हमेशा से ही विबादित हालात रहते है। परंतु मैं तो वहां नहीं था पर हमारे जनपद के ग्रुप में ध्वजारोहण के बाद फोटो डाल दिए गए थे। बकायदा ठहराव प्रस्ताव भी डाले गए है। अब यहां तो ऐसी राजनीति होती ही है।