भदैयाकुण्ड पर धारा 144 के बाद भी रोज पहुंच रहे है एक हजार लोग, प्रशासन की कोई व्यवस्था नहीं

शिवपुरी। जिले में बाढ के बाद से छतिग्रस्त हुए प्रयर्टक स्थल भदैयाकुण्ड के हालात बद से बद्तर होते जा रहे है। प्रशासनिक अधिकारीयों की उदाशीनता का शिकार भदैयाकुण्ड पर हालात यह बने है कि यहां प्रशासन ने धारा 144 लागू कर इस दर्शनीय स्थल को पब्लिक के लिए बंद कर दिया है। जिसके चलते इस भदैयाकुण्ड के रखरखाब का ठेका लेने बाले ठेकेदार परेशान है।

जानकारी के अनुसार भदैयाकुण्ड पब्लिक के लिए अभी बंद है। इसके मुख्य द्धार पर प्रशासन ने ताला डाल दिया है। जिसके यहां संचालिक लेकब्यू रेस्टोरेंट सहित यहां के ठेकेदार को प्रशासन ने इसे बंद करने का आदेश दे दिया है।

अब बरसात के बाद यहां पब्लिक लगातार जा रही है। हालात यह है कि इन गेटों के उपर से कूंद कूंदकर आज लगभग 1 हजार लोग यहां पहुंचे है। परंतु इन लोगों को रोकने के लिए प्रशासन की और से यहां कोई इंतजाम नहीं किए गए है। जिसके चलजे अगर यहां हादसा होता है तो इसकी जिम्मेदारी लेने बाला कोई नहीं है।

लेक व्यू के संचालक मनीष शर्मा ने बताया है यही सीजन तो उनके लिए आमदनी का जरिया है। बरसात के दिनों में ही यहां पर्यटक आते है। परंतु प्रशासन द्धारा धारा 144 लगाने से इसे बंद करा दिया है। जिसके चलते पूरे स्टाफ को भी यहां से हमने हटा दिया है। परंतु उसके बाद भी यहां लगातार लोग आ रहे है। जिनकी न तो यहां कोई देख रेख की व्यवस्था है और न ही साफ सफाई की। हम लगातार एसडीएम से इसे पुन प्रारंभ करने की गुहार लगा चुके है। परंतु वह भी कोई सुनवाई नहीं कर रहे।

अब जब सीजन खत्म हो जाएगा तब इसे प्रारंभ किया जाएगा तो यहां कौन आएगा। कैसे भी करके यहां उनका नुकसान होना तय है। यहां प्रशासन को या तो इसे फिर से प्रारंभ कर देना चाहिए या फिर यहां सुरक्षा के चलते फोर्स को तैनात करना चाहिए जो यहां जा रही पब्लिक को रौक सके।