समस्त विभाग विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन पर ध्यान दें: सांसद दिशा की बैठक में अधिकारियों को दिए निर्देश

शिवपुरी। लोकसभा क्षेत्र गुना-शिवपुरी सांसद डॉ.के.पी.यादव शुक्रवार को जिले के भ्रमण पर आए इस दौरान उन्होंने जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक में विभागीय कार्यों की समीक्षा की और सभी अधिकारियों को विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन पर ध्यान देने के निर्देश दिए हैं। बैठक में उन्होंने जिला ग्रामीण विकास विभाग, पशुपालन, स्वास्थ्य विभाग नगर पालिका, शिक्षा, कृषि आदि विभागों की समीक्षा की।

सांसद डॉ.के.पी.यादव ने निर्देश देते हुए कहा कि मनरेगा योजना के तहत लक्ष्य के अनुसार कार्य करें। जिन क्षेत्रों में वन भूमि संबंधी कोई समस्या नहीं है वहां प्रगति के साथ काम चलना चाहिए। इससे लोगों को मजदूरी भी मिलेगी। जिले में की जा रही पहल की जानकारी देते हुए ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर राजीव पांडे ने बताया कि इस वर्ष निर्माण कार्य में रूफ वाटर हार्वेस्टिंग को लागू किया जा रहा है जिसमें प्रत्येक पंचायत में लक्ष्य निर्धारित करके रूफ वाटर हार्वेस्टिंग की जाएगी। गौशाला संचालन के संबंध में भी निर्देश दिए।

बैठक में सिंध जलावर्धन योजना के तहत शहर में चलाए जा रहे वाटर प्रोजेक्ट की समीक्षा की गई। प्रोजेक्ट समय पर पूरा न होने के कारण शहरवासियों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। वाटर प्रोजेक्ट के तहत 27 किलोमीटर की लाइन पूरी होना है। जिसमें लगभग 9 किलोमीटर लाइन पूरी हो गई है।

सांसद डॉ.के.पी.यादव ने नगर पालिका सीएमओ और नगरपालिका के इंजीनियर से प्रोजेक्ट की जानकारी ली और सख्त निर्देश देते हुए कहा कि इसमें संबंधित व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही भी होना चाहिए। बैठक में कृषि विभाग के खाद बीज की उपलब्धता की जानकारी ली। पीएचई के सीवर प्रोजेक्ट की समीक्षा की।

बैठक में जिला अध्यक्ष श्री राजू बाथम, श्री सुशील रघुवंशी, विधायक प्रतिनिधि श्री भागीरथ बाथम, सांसद प्रतिनिधि श्री हेमंत ओझा, श्री मुकेश चौहान, कलेक्टर श्री अक्षय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री राजेश सिंह चंदेल, डीएफओ श्रीमती मीना मिश्रा, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी.वर्मा, एडीएम श्री उमेश शुक्ला सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए डॉ.के.पी.यादव ने निर्देश दिए हैं कि आयुष्मान भारत योजना अति महत्वपूर्ण है। इससे गरीब परिवारों को स्वास्थ्य लाभ मिलेगा इसलिए विशेष अभियान चलाकर आयुष्मान कार्ड बनाएं और जनप्रतिनिधियों को भी इस अभियान से जोड़ें।