खुलेआम चल रहा है रजिस्ट्रार कार्यालय में रिश्वत का खेल, बिना चढ़ावा नहीं होती रजिस्ट्री - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के सब रजिस्ट्रार कार्यालयों को भ्रष्टाचार के कार्यालय कहें तो अतिश्योक्ति न होगी क्योंकि यह कार्यालय बिना रिश्वत के किसी की रजिस्ट्री तक नहीं करते हैं। इतना ही नहीं यदि पैसा नहीं दिया तो कोई न कोई कमी बताकर आपकी रजिस्ट्री ही लटका देंगे ऐसे में परेशान लोग अपनी जेब ढीली करने को मजबूर होते हैं।

ऐसा ही मामला आज करैरा के सब रजिस्ट्रार कार्यालय में सामने आया है जहां किसान से जमीन की रजिस्ट्री करने के ऐवज में एक बाबू खुलेआम रिश्वत लेता नजर आ रहा है जिसे आज सोशल मीडिया पर कांग्रेस नेता मानसिंह फौजी ने वायरल कर दिया जिसके बाद विभाग के हाथ पैर फूले हुए हैं।

पिछोर में भी रिश्वत लेते पकडा गया था सब रजिस्ट्रार

पिछोर के सब रजिस्ट्रार कार्यालय में भी रिश्वत का खेल चल रहा था जिसे मीडिया ने उजागर किया। पिछोर के सब रजिस्ट्रार मनपालसिंह रावत किसान से रजिस्ट्री के ऐवज में पैसे ले रहे थे जिसे मीडिया ने कैमरे में कैद किया लेकिन भ्रष्टाचार के इस कार्यालय के अधिकारियों पर अब तक कोई कार्रवाई तक नहीं हुई है।

शिवपुरी में भी रिश्वत का खुला खेल

शिवपुरी के रजिस्ट्रार कार्यालय में भी रिश्वत का खुला खेल जारी है। यहां बैठे रजिस्ट्रार बिना हरे हरे नोटों की खनक को देखे बिना कोई काम नहीं करते है। इतना ही नहीं यहां के कार्यालय में दलाल तो छोडिए खुद रजिस्ट्रार साहब ही वकील से पैसों की बात पूरी करते है और शाम को रिश्वत का हिस्सा लेकर अपने अपने घरों को चले जाते हैं।

कलेक्टर साहब जाकर देखो

शिवपुरी शहर की आवाम का कहना है कि इस ओर न तो किसी जनप्रतिनिधि ने ही आवाज उठाई है और न ही जिले के मुखिया कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने। लोगों का कहना है कि साहब एसी आफिस से बाहर निकलिए और देखिए की आपके सब रजिस्ट्रार कार्यालय कैसे भ्रष्टाचार में डूबे हैं।