मिलिए कोरोना फाइटर डॉ चंद्रशेखर गुप्ता से, ICU से आईसोलेशन तक कैसे करते रहे कोरोना पॉजीटिवों की सेवा - starts of shivpuri

शिवपुरी। कोविड महामारी ने पूरे विश्व को प्रभावित किया है। कोविड की लहर के दौरान कई मरीज गंभीर स्थिति में पहुंचे। ऐसे में चिकित्सकों ने कोविड वारियर की भूमिका निभाई। इन्हीं में से एक हैं डॉक्टर चंद्रशेखर गुप्ता।

एमडी मेडिसिन डॉक्टर चंद्रशेखर गुप्ता जिला अस्पताल में कोरोना आईसीयू वार्ड में प्रभारी के रूप में रहे। इसके अतिरिक्त रेमडेसीविर इंजेक्शन समिति के प्रभारी रहे। इनकेे परिवार में पत्नी और 5 साल की एक बेटी है, जिसके‌ इनफेक्शन का डर‌ सदैव बना रहा फिर भी कोविड वार्ड में पूरी सिद्दत से मरीजों का उपचार किया।

कई घंटे की डयूटी के बाद भी आईसीयू में मरीजों की तबीयत बिगडने पर देर रात भी मरीजों को देखने जाने में कभी संकोच नही किया। लगातार कोरोना के बीच आईसीयू से लेकर आईसोनेशन तक यह मरीजों की सेवा में जुटे रहे।

जिला अस्पताल में सबसे अधिक कोविड रोगियों का उपचार किया। अस्पताल में गंभीर स्थिति में आने वाले मरीजों में भी एक विश्वास जगाया कि वह ठीक हो सकते हैं। कई ऐसे मरीजों को भी जिला अस्पताल में ठीक किया जो गंभीर स्थिति में थे। मरीजों ने भी ठीक होने के बाद उनके कार्य की सराहना की इससे उन्हें लगातार मरीजों का उपचार करने की प्रेरणा मिलती रही।