अपने खेत के रास्ते पर सरकारी मशीनों से रोड डाल रहा है पंचायत सचिव - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में जनपद पंचायत का जिम्मा जब से सीईओ गगन बाजपेई ने संभाला है तब से हर पंचायत में जमकर भ्रष्टाचार जारी है। पंचायत में खुलेआम पंचायत सचिव पब्लिक के पैसे को ठिकाने लगाने में जुटे हुए है। ऐसा ही मामला शिवपुरी से महज 15 किमी दूर ग्राम पंचायत सतनवाडा खुर्द से आ रहा है।

जहां पंचायत सचिव पब्लिक के 14 लाख 99 हजार रूपए को सरेआम ठिकाने लगा रहा है। यहा पंचातय में सहायक सचिव अपने आपको मंत्री का रिश्तेदार बताता है। जिसके चलते आला अधिकारी इसपर कार्यवाही से बचते नजर आते है।

आज जो मामला सामने आया है उसमें पंचायत में पदस्थ सहायक सचिव अतिवल सिंह धाकड ग्राम पंचायत सतनवाडा खुर्द में मंजूर सडक जिसकी लागत 1498954 रूपए है इस रोड का निर्माण आरईएस के जरिए नरेगा से होना है। जिसमें सडक में मजदूरी का काम मजदूरों से कराना होता है।

परंतु इस लॉकडाउन में मजदूर मजदूरी के लिए तरस रहे है। दूसरी और पंचायत सचिव खुलेआम गांव में जेसीबी और ट्रेक्टर ट्रॉली से इस रोड का बनवा रहे है। इसके एवज में विभाग को गुमराह करने के लिए मजदूरों के खाते के बाउचर भी विधिबत लगाए जा रहे है। जब काम मशीनों से हो रहा है तो फिर मजदूरों का क्या काम।

यहां तक तो ठीक है परंतु इसी रोड में जो दूसरा मामला निकलकर सामने आया है कि यह रोड पीपल वाले कुआं से भरोसी धाकड के खेत मंजूर है। परंतु धरातल पर यह रोड गांव से ग्राम पंचायत के सचिव के खेत तक डल रही है। जब इस संबंध में सहायक सचिव अतिवल से जानकारी चाही तो उन्होंने यह कहकर पल्ला झाड लिया कि यह सडक आरईएस की है। जिसका काम मजदूरों से नहीं मशीन से होना है।

अब यह समझ से परे है कि अगर काम मजदूरों से नहीं होना है तो फिर इस रोड निर्माण की फाईल में मजदूरों के बाउचर क्यों लगाए जा रहे है।

इनका कहना है
इसका वीडियों आपने मुझे भेज दिया है,में इस मामले में तत्काल एई को भेजकर जांच कराता हूं। अगर ऐसा हुआ है तो हम कार्यवाही करेंगे।
एचपी वर्मा,सीईओ जिला पंचायत शिवपुरी।

आपके द्धारा यह मामला मेरे संज्ञान में लाया गया है। में इसकी जांच करा लेता हूं। रही बात आरईएस के काम की तो पेमेंट नरेगा से होता तो मशीनों का तो कोई सबाल ही नहीं उठता फिर भी में इस मामले को अभी सीईओ सहाब को बताता हूं। दूसरा अगर धरातल पर कही और रोड डाली गई है तो उसका तो पेंमेंट ही नहीं होगा। इसपर कार्यवाही कराता है।
अमित श्रीवास्तव,एपीओ नरेगा