वाह रे प्रशासन: क्राईसिस की कमेटी में बाहरी का नाम जोड़ दिया, CMO बोले मंत्री पुत्र के कहने पर SDM ने बनाई सूची

शिवपुरी। पोहरी में क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी का गठन किया गया जिसकी एक सूची सोशल मीडिया पर जारी की गई। सोशल मीडिया पर जैसे ही यह सूची जारी हुई तो उसमें बबाल होना शुरू हो गया। कराहल में पदस्थ स्वास्थ्य विभाग के एक कर्मचारी का नाम भी इस सूची में शामिल किया गया है।

इतना ही नहीं जब सीएमओ मधु श्रीवास्तव से पूछा गया तो उनका कहना था कि यह सूची मंऋी सुरेश रांठखडा के पुऋ जीतू के कहने पर एसडीएम जेपी गुप्ता द्वारा तैयार की गई है। इस सूची के सामने आने पर पोहरी की राजनीति में भूचाल आ गया है।

इसे लेकर कांग्रेस नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है और कहा है कि मंत्री पुत्र पुलिस और प्रशासन के फ्लैग मार्च में हिस्सा ले रहा है जबकि वह किस पद पर है और वह अधिकारियों को आदेश देता है और उसका पालन अधिकारी कर रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी का नाम सूची में
कराहल में स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ कर्मचारी महेन्द्र राजे का नाम कोरोना क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी में समाजसेवी के रूप में दिया है और उनका नंबर भी दिया गया है। इतना ही नहीं यह कर्मचारी हर रोज कराहल डयूटी पर जाते हैं ऐसे में इस कमेटी में यह जनता के बीच जाकर उन्हें किस तरह से जागरूक करेंगे या उनकी बात प्रशासन के बीच कैसे रख सकेंगे यह समझ से परे है। जब इस बारे में महेन्द्र राजे से बात की तो उनका कहना था कि वह तो शासकीय कर्मचारी है और उनका नाम सूची में कैसे आया यह उन्हें नहीं पता।

बैराड के शिक्षक को भी लगाया
पोहरी की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी में बैराड के शिक्षक का भी नाम सूची में है। ऐसे में शिक्षक राकेश राठौर से बात की तो उनका कहना था कि उनका नाम तो पहले ही बैराड की सूची में चल रहा है ऐसे में उनका पोहरी में नाम जोड दिया गया है और वह हर रोज इस कोरोना काल में कैसे पोहरी आएंगे।

यह बोले सीएमओ
नगर परिषद पोहरी के सीएमओ मधु श्रीवास्तव से जब बात की गई तो उनका कहना था कि यह सूची जीतू रांठखेडा ने एसडीएम जेपी गुप्ता के साथ बैठकर बनाई है और इस सूची के बारे में उन्हें ज्यादा जानकारी नहीं हैं।

यह बोले एसडीएम
जब इस मामले को एसडीएम जेपी गुप्ता से बात की गई तो उनका कहना था कि यह मामला उनके संज्ञान में लाया गया है और उनके पास जो नाम आए थे उसके हिसाब से ही सूची तैयार की गई है यदि किसी को नाम आने से आपत्ति है तो उसका नाम हटा दिया जाएगा। जबकि जीतू रांठखेडा के नाम पर एसडीएम चुप्पी साधते और अपना बचाव करते नजर आए।

यह बोले कांग्रेस नेता
पोहरी के कांग्रेस नेता संजीव शर्मा का कहना है कि प्रशासन जीतू रांठखेडा के हाथ की कठपुतली बनकर काम कर रहा है वह जो आदेश दे रहा है वह काम हो रहे हैं जबकि वह
मंत्री पुत्र है न कि किसी संवैधानिक पद पर है।

इतना ही नहीं पोहरी में जो क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी बनाई गई है उसमें पोहरी के स्थानीय लोगों को दरकिनार कर बैराड, ऐचवाडा और कई बाहर के लोगों के नाम शामिल किए हैं ऐसे लोग न तो मीटिंगों में ही आएंगे और न ही जनता की समस्या ही प्रशासन तक पहुंचा पाएंगे। ऐसे में सूची तो संशोधित किया जाए।