शहर में पेट्रोल संकट: क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य शोपीस नही है तो पेट्रोल पंप खुलवाए,पढिए क्यो - Shivpuri News

शिवपुरी। बडी ही मुश्किल से हम कोरोना से जंग में जीत की ओर बड रहे हैं। कोरोना की पॉजीटिव प्रतिशत 5 से भी कम हुआ हैं,लेकिन शहर के पेट्रोल पंप बंद होने के कारण नगरीय क्षेत्र से बहार के पेट्रोल पंपो पर भीड उमड रही हैं और वहां पर कोई भी कोविड के नियमो का पालन नही हो रहा है।

पेट्रोल पंपो से कोरोना का कोरियर हो सकता हैं शहर के पेट्रोल पंप कुछ समय के साथ खोले जा सकते हैं तो इस कोरोना के कोरियर से बचा जा सकता हैं क्यो शहर के पंप अगर खुलगें तो प्रशासन की नजर रहेगी और गाईडलाईन का पालन भी होगा। यह बात भी सत्य हैं जिसे पेट्रोल लेना हैं वह नगरीय क्षेत्र के बहार के पंपो पर जा रहा हैं।

प्रशासन ने कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए पेट्रोल पंप बंद किए थे,लेकिन नगरीय क्षत्रो के बहार के पंपो पर लग रही लंबी लाईनो से संक्रमण रूक नही रहा हैं बल्कि कोरियर होने का खतरा अधिक हैंं। अगर क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्य शोपीस नही हैं तो शहर के पेट्रोल पंपो को कुछ समय के ओपन अवश्य कराए।


जैसा कि विदित हैं कि कोरोना को काबू में करने के लिए पेट्रोल पंपों को कोरोना के चलते बंद कर दिया गया है ऐसे में लोगों को पेट्रोल की आवश्यकता है और पेट्रोल के लिए अब लोग शहर तो क्या शहर से 10 नहीं बल्कि 30 और 40 किमी दूर का सफर तय कर पेट्रोल ला रहे हैं।

बेटी बीमार पिता गिडगिडाया, नहीं दिया पेट्रोल

शहर के मनियर टोल टैक्स के समीप बने पेट्रोल पंप पर एक पिता पेट्रोल के लिए कर्मचारियों के सामने गिडगिडाता रहा लेकिन उसे पेट्रोल नहीं दिया जबकि कोविड डयूटी दे रहे कर्मचारियों को एसडीएम की परमीशन की पर्ची से पेट्रोल दिया जा रहा था। क्या यहीं मानवता है। जिसके बाद एक युवक ने अपनी बाइक से पेट्रोल निकालकर उसे बेवस पिता को दिया जिसके बाद वह अपनी बेटी को डॉक्टर के पास ले गया। बेटी को तेज बुखार आ रहा था।

शासकीय कर्मचारी ने दिखाया आईकार्ड नहीं मिला पेट्रोल

एक शासकीय कर्मचारी ने भी इस पेट्रोल पंप पर पेट्रोल के लिए कर्मचारी से कहा और उसने अपना कार्ड भी दिखाया कि वह शासकीय सेवक है और उसे डयूटी पर जाना है ऐसे में उसे पेट्रोल दिया जाए लेकिन कर्मचारी ने यह कहकर पेट्रोल डालने से इंकार कर दिया कि वह एसडीएम से पास बनवा लाए जिसके बाद वह पेट्रोल देगा।

10 किमी दूरी वाहनों की कतार

शहर से 10 किमी दूर बडौदी और सिंहनिवास पर पेट्रोल पंपों पर लगातार भीड नजर आ रही है। इन पंपों पर शहर से भी लोग पेट्रोल भराने के लिए जा रहे हैं। ऐसे में यहां कतार लग रही है। कोई सुरक्षित दूरी का पालन नहीं हो रहा है। ऐसे में यदि भीड के चलते कोरोना फैला तो यह कोरोना गांव गांव बटेगा जिसके बाद प्रशासन की मुश्किलें बढ सकती है।

बाइक, कार, जीप लेने जा रहे पेट्रोल और डीजल

शहर से 10 किमी दूर सिंह निवास पर बने नए पेट्रोल पंप पर शहर के लोग दो पहिया वाहन से लेकर कार और जीप में पेट्रोल व डीजल भरवाने जा रहे हैं। उनका कहना है कि शहर में पेट्रोल मिल नहीं रहा कब गाडी की आवश्यकता पड जाए ऐसे में गाडियों में पेट्रोल तो भरवाकर रखना पडेगा लेकिन शहर में तो एक भी पंप पेट्रोल डीजल नहीं दे रहा है जिससे परेशानी हो रही है।