आधी रात 'भगवान' के घर में घुस आए 4 हथियार धारी बदमाश, ग्रामीणों ने घेरा तो 3 भाग गए:1 बदमाश पकड़ा गया - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले के सुभाषपुरा थाना क्षेत्र के अतंर्गत आने वाले इंदरगढ गांव में बुधवार—गुरूवार की आधी रात 4 बदमाश हथियार लेकर गांव के एक घर में डकैती डालने घुस गए। घर के मुखिया पर बंदूक तान दी,लेकिन मुखिया के बेटे और ग्रामीणो की एक जुटता के कारण बदमाशो को भागना पडा,इस घटना में 1 बदमाश के भागने के कारण उसका पैर टूट गया और वह पकडा गया।

इंदरगढ़ गांव में बुधवार-गुरुवार की आधी रात चार बदमाश हथियार लेकर एक घर में डकैती डालने पहुंच गए और घर के मुखिया पर बंदूक तान दी। इसी बीच गांव के दूसरे लोग जाग गए। घेराबंदी शुरू की तो बदमाश भागने लगे। तीन बदमाश तो भागने में सफल हो गए, लेकिन छत से छलांग लगाने पर एक बदमाश की टांग टूट गई जिससे वह भाग नहीं सका। ग्रामीणों ने उसे धर दबोचा। ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुला लिया। पुलिस ने हिरासत में लेने के बाद बदमाश को जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया है।

जानकारी के मुताबिक शिवपुरी तहसील के इंदरगढ़ गांव में बुधवार-गुरुवार की रात चार बदमाश डकैती डालने के लिए भगवान सिंह धाकड़ के घर में घुस गए और उन पर बंदूक तान दी। इसी बीच बदमाशों के गांव में आने की भनक ग्रामीणों को लग गई।

गांव वाले इकट्ठे होकर बदमाशों को पकड़ने पहुंचे। ग्रामीणाें काे एकजुट देखकर बदमाश बिना वारदात को अंजाम दिए अपनी जान बचाकर भागने लगे। भागने के लिए एक बदमाश सुल्तान (40) पुत्र राधे मोगिया निवासी धौलागढ़ ने छत से छलांग लगा दी लेकिन जमीन पर पैर के बल गिरने से उसके पंजे के ऊपरी हिस्से की हड्डी टूट गई जिससे वह भागने में असफल रहा। इसके बाद ग्रामीण आ गए और उसे मौके पर ही पकड़ लिया।

पुलिस को सूचना देकर बुलाया, अस्पताल में पैर टूटने का पता चला:

घटना की सूचना मिलने पर सुभाषपुरा थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। ग्रामीणों ने पकड़े गए बदमाश काे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस इलाज कराने सामुदायिक अस्पताल सतनवाड़ा लेकर पहुंची। यहां पता चला कि बदमाश का पैर टूट गया है। बाद में प्लास्टर बांधकर उसे जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। घायल सुल्तान मोगिया का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस मामले को चोरी काण्ड में सुलटाने के प्रयास में

इंदरगढ़ में बदमाशों का प्रयास असफल होने से पुलिस ने राहत की सांस ली है। ग्रामीणों के प्रयास से घटना होने से बची है। ग्रामीणों ने ही बदमाश को पकड़कर पुलिस के सुपुर्द किया है। पुलिस फिलहाल मामले को चोरी का प्रयास बता रही है लेकिन अभी तक इस मामले में काेई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।

घर के मुखिया के बेटे संदीप धाकड ने मीडिया को बताया

भगवान सिंह के बेटे संदीप धाकड ने मुखिया को बताया कि रात में हम सब सो रहे थे,एक बदमाश ने मेरे पिता पर बंदूक तान दी पिता ने उसे अकेला समझ कर उससे उलझ गए,लेकिन पीछ से 3 और बदमाश आ गए। इन बदमाशो मे एक ने मेरे पिता पर बंदूक तान दी।

आवाज सुनकर में वहां पहुंच गय,बदमाशो ने मुझे पकडने की सोची लेकिन वहां से भाग गया,मैने गांव वालो को जगा दिया,शोरगुल होने के कारण बदमाशो की हिम्मत जबाब दे गई। हमने मिलकर उन्है पकडने का प्रयास किया तो बदमाश भागे,इन बदमाशो ने एक बदमाश ने छत से कूंदकर भागने का प्रयास किया तो कूंदने के कारण उसका पैर टूट गया। हमने उसे पकडकर पुलिस के हवाले कर दिया।