सास का इलाज कराने आई विवाहिता अस्पताल से फरार, दुधमुंहे बच्चे को भी छोड़ गई - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के फतेहपुर आजाद नगर कालोनी में रहने वाली एक महिला 19 मार्च को अपनी सास को दिखाने जिला अस्पताल पहुंची और अपने 10 माह के दुंधमुंहे बच्चे को सास के पास छोडकर दवा लेने जाने की बात कहकर गई और उसके बाद से वह 16 दिन बीत जाने के बाद भी अपने घर नहीं लौटी है। इधर महिला का पति अपने दुंधमुंहे बच्चों को लेकर कोतवाली के चक्कर काट रहा है लेकिन उसकी फरियाद सुनने वाला कोई नहीं है। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर इति श्री कर ली है।

जानकारी के अनुसार आजाद नगर में रहने वाले राजकुमार सैन की पत्नी रानी सैन अपनी सास अनीता बाई को दिखाने के लिए अपने 10 माह के बच्चे के साथ गई थी। रानी ने अपनी सास अनीता को पर्चा बनवाया और उसके बाद मोबाइल और बच्चे को अपनी सास को देकर कहा कि वह मेडीकल देखने जा रही है और उसके बाद लौटकर नहीं आई। जिसके बाद अनीता बाई अपने घर पहुंची और रानी के लापता होने की जानकारी उसके पति राजकुमार को दी।

पति पहुंचा थाने को पुलिस ने करी गुमशुदगी दर्ज

20 मार्च को जब राजकुमार ने रानी को सब जगह ढूढा लेकिन जब उसका कोई पता चला तो वह कोतवाली पहुंचे और मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस ने गुमशुदगी तो दर्ज कर ली लेकिन 16 दिन बीत जाने के बाद भी रानी का कोई सुराग नहीं लग सका है।

दुुधमुंहे का रो रोकर बुरा हाल

10 माह के दुंधमुंहे बच्चे का रो रोकर बुरा हाल है। ऐसे में परिजन हर जगह तलाश कर रहे हैं लेकिन रानी का कोई सुराग अब तक नहीं लगा है। पिता राजकुमार का कहना है कि दिन में तो 10 माह का बच्चा जैसे तैसे रह जाता है। परंतु रात में मां के लिए रोता है। परंतु आज 16 दिन बाद भी उसका कोई सुराग नहीं मिल सका है।

पुलिस भी नहीं कर रही सुनवाई

इस मामले में पीडित पति का आरोप है कि वह लगातार 16 दिन से पुलिस के चक्कर लगा रहा है। परंतु 16 दिन बीत जाने तक पुलिस कोई सुनवाई नहीं कर रही है। पुलिस इस मामले में अपने मोबाईल की कॉल डिटेल्स के साथ साथ उसके मोबाईल की भी जानकारी की फरियाद लगा रहा है। परंतु पुलिस अभी 16 दिन बीत जाने पर भी कॉल डिटेल्स नहीं निकाल पा रही है।