आसमान छूते हाइवे की जमीनों के दाम, ब्लैक मनी का हो रहा खेल - Shivpuri News

शिवपुरी। शहर सहित अंचल में हाइवे से सटी जमीनों के एक दम से दाम बढना शुरू हो गए है तो वहीं शहर के सतनवाडा और मेडीकल कॉलेज इलाके में जमीनों के दाम आसमान छू रहे हैं। जिस जमीन की सरकारी कीमत अलग है लेकिन बडे बडे भू माफिया और कारोबारी इन जमीनों को सरकारी दाम से बहुत उंचे दामों पर क्रय कर रहे हैं। इस कारोबार में बडे बडे कारोवारियों के अलावा अधिकारियों की ब्लैकमनी भी ठिकाने लगाई जा रही है।

30 से 60 लाख बीघा पहुंची जमीन की कीमतें
करैरा जैसे हाइवे पर जहां 30 से 35 लाख रूपए बीघा जमीन के दाम हो गए है तो वहीं फोरलेन के नए वायपास पर 50 से 60 लाख रूपए बीघा जमीन हो गई है। जबकि यहां सरकारी कीमत अब भी 3 से 4 लाख रूपए बीघा ही है लेकिन रजिस्ट्री में यही दाम अंकित हो रहा है जबकि सौदा लाखों में तय हो रहा है।

रजिस्ट्रार को कमीशन दे राजस्व को लगा रहे पलीता
बडे बडे कारोबारी फोरलेन के किनारे की जमीनों को हथियाने में जुट गए है और रजिस्ट्रार से सांठगांठ कर लाखों रूपए में जमीन का सौदा कर रजिस्ट्री में कम दाम अंकित करा कर सरकार को लाखों रूपए के राजस्व को चूना लगा रहे हैं। रजिस्ट्रार रजिस्ट्री के दौरान पहले ही सेंटिंग कर अपना मोटा कमीशन ले लेते है।

अधिकारियों की काली कमाई लग रही ठिकाने
जिले में हाइवे पर आसमान छूती जमीन की कीमतों के पीछे एक कारण् यह भी है कि अधिकारियों की काली कमाई यानि ब्लैक मनी को ठिकाने लगाने के लिए यहां जमीनों का सौदा तय किया जा रहा है।

हलवाई से लेकर सराफा कारोबारी को रास आई जमीनें
शहर का एक हलवाई और सराफा कारोबारी इन दिनों हाइवे के किनारे की जमीनों सहित मेडीकल कॉलेज के आसपास की जमीनों का सौदा करने में लगे है। इतना ही नही एक अययाश बंदूकधारी इंजीनियर भी इनकी तिगडी में शामिल है जो मिर्ची सेठ के साथ जमीन के कारोबार में अपना हाथ आजमा रहा है।