SHIVPURI CORONA CURFEW NEWS: वीरान पडी शिवपुरी की सड़कें, पुलिस का पहरा

शिवपुरी
। शुक्रवार की शाम से लगा जिले में कोरोना कर्फ्यू ने आज अपना असर दिखाया। सुबह 10 बजे तक कर्फ्यू में दूध लेने के लिए लोग निकले उसके बाद शहर की सडके वीराने में बदल गई,सडको पर केवल पुलिस का पहरा था। सडको पर केवल इक्का दुक्का लोग ही नजर आ रहे थे।

कोरोना की दूसरी लहर में जिला भी चपेट में आ गया। कोरोना की दूसरी लहर में युवा अधिक संक्रमित हो रहे हैं इस संक्रमण की चैन को तोडने के लिए जिलें में 5 दिन का कोरोना कर्फ्यू लगाना पडा। हालाकि इस कोरोना कर्फ्यू में आवश्यक गतिविधिया चालू रहेंगी,लेकिन अकारण और बिना काम के लोग सडको पर नही निकल सकेंगें।

आज शहर भर में मेडीकल और अन्य उपयोगी सामान को छोड़कर सभी दुकानें बंद रहीं। यहां तक कि पेट्रोल पम्पों पर भी तालाबंदी देखी गई। सड़कें ऐसी वीरान पड़ी रहीं और इक्का दुक्का लोग ही वहां से आते जाते रहे। इस दौरान चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मी लोगों से आने जाने का कारण पूछते नजर आए। मेडीकलों पर भी दवा लेने के लिए लोग आते जाते रहे।

शहर के माधव चौक चौराहे का यह हाल था कि वहां पुलिस के अलावा कोई नहीं था। दिनभर गुलजार रहने वाला कोर्ट रोड़ बिल्कुल सुनसान था। अस्पताल चौराहे पर भी यही स्थिति थी। गुरूद्वारा चौराहे पर पुलिस की बैन खड़ी थी। जिस पर मौजूद पुलिसकर्मी आने जाने वालों से पूछताछ कर रहे थे। वहीं बिना मास्क के घूमने वाले लोगों पर चालानी कार्रवाई की जा रही थी।

पेट्रोल पम्पों के हालत ऐसे थे कि वहां शासकीय कार्य में लगे वाहनों को छोड़कर किसी को पेट्रोल डीजल नहीं दिया जा रहा था। पेट्रोल पम्प के ऑफिस बंद थे सिर्फ एक कर्मचारी ही वहां मौजूद था।

कलेक्टर-एसपी ने सड़कों पर निकलकर हालतों का लिया जायजा

कोरोना कफ्र्यू का लोगों ने पालन किया और लोग सिर्फ जरूरी कामों से ही घर से बाहर आए। वहीं कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह और एसपी राजेश सिंह चंदेल स्वयं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शहर के हालातों का जायजा लेने सड़कों पर उतरे और उन्होंने पेूरे नगर का भ्रमण किया।

साथ ही कुछ स्थानों पर घूम रहे लोगों से पूछताछ की तो किसी ने उन्हें बताया कि वह मेडीकल पर दवाई लेने जा रहे हैं तो किसी ने फैक्ट्री पर जाने की बात कहीं।

सुबह 7 बजे से 10 बजे तक फल, सब्जी और दूध की रही उपलब्धता

कोरोना कफ्र्यू के दौरान फल, सब्जी और दूध की उपलब्धता सुबह 7 बजे से 10 बजे तक रही। इस दौरान डेयरियां खुली रहीं। वहीं दुधिये भी साइकिलों से दूध की सप्लाई करते देखे गए। सब्जी और फलों के ठेले भी गली-गली, मोहल्ले-मोहल्ले पहुंचे। जिनसे लोगों ने सब्जियां खरीदी।

बैंकों में लेन-देन के लिए पहुंचे उपभोक्ता

कोरोना कफ्र्यू में रूपयों के लेन-देन के लिए बैंकों पर पहुंचने के लिए लोगों को छूट दी गई थी। जिसके तहत लोग बैंकों में लेन-देन के लिए पहुंचे। जहां बैंकों के बाहर लोगों को खड़ा कर उन्हें मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैंकों में अंदर जाने दिया।