ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दान के करने के लिए चंद घंटो में आए 30 दान दाता सामने,यह है दान दाता - Shivpuri News

शिवपुरी। कोरोना से छिनती सांसो का बचाने के लिए मेडिकल कालेज के अस्पताल में तत्काल ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता था। हालाकि मेडिकल कालेज प्रबंधन ने शासन को प्रस्ताव बनाकर भेज दिया था,लेकिन जैसे ही यह मैसेस सोशल पर पोस्ट किया गया कि थमती सांसो को रोकेने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता है। शहर के मदद के लिए हाथ खोल दिए,सबसे पहले जिले के कलेक्टर और एसपी ने अपने हाथ दान के लिए खोले।


जिला चिकित्सालय का ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने की स्थिति में पहुंच गया है, लेकिन इसके बाद भी और ऑक्सीजन जरूरत को पूरा करने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। ऐसे में लोगों की मदद मिल जाए तो यह एक आपदा में योगदान का अवसर होगा। इसी वजह से कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने क्राइसिस समूह के ग्रुप पर एक मैसेज छोड़ा।

जिसमें ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता बताई और मध्य प्रदेश के खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया के निर्देश पर यह पहल जब प्रारंभ हुई तो इसमें शहर के समाजसेवियों के साथ-साथ दानदाता जुडते चले गए। दरअसल खेल मंत्री ने एक दिन पहले ही समाजसेवियों को सक्रिय भागीदारी निभाने का आह्वान किया और सदस्य समीर गांधी और राजेश जैन राजू प्रेम स्वीट्स ने इसे आगे बडाया

जिले में ऑक्सीजन यूनिट सहयोग के लिए यह आगे आए

अक्षय सिंह, कलेक्टर,राजेश चंदेल, एसपी,समीर गांधी,राजेश जैन राजू,प्रेम स्वीट्स,सब्जी मंडी एकता विकास कल्याण समिति (इरशाद ),गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी,दीवान अरविंद लाल जी,गुप्त नाम,मनीष हरियानी और मनीष सांखला,विष्णु मंदिर ट्रस्ट दीवान साहब,अमन गोयल,सचिन जैन पत्ते वाले,मुकेश जैन पेट्रोल पम्प,अमित भदौरिया, टीआई,अमित गुप्ता टाइल्स,आलोक इंदोरिया, राजेंद्र गुप्ता बांके बिहारी,राधेश्याम गुप्ता,सांवल दास गुप्ता फर्म,राजकुमार श्मंगल मसाले,संकेत पीपी ज्वेलर्स,निर्मल गुप्ता बैराड वाले,गगन अरोरा और चिराग अरोरा,रेडीमेड और होजरी एसोसिएशन,आर्य समाज शिवपुरी,लायंस क्लब शिवपुरी साउथ अध्यक्ष राकेश जैन ( प्रेमस्वीट्स) सचिव सौरभ सांखला लायनेस क्लब शिवपुरी साउथ अध्यक्षा सीमा गोयल और सचिव प्रियंका भार्गव सर्वेश अरोरा रोटरी,अनिल खटीक,राजकुमार, अमित कुमार अभिषेक जैन,जड़ी बूटी परिवार हार्ट फूल नेस इंस्टीटूट

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन क्या होती हैं और कैसे काम करती हैं

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मशीन सीधे पर्यावरण से हवा खींचती है। यह वायु मशीन में जाकर कंसंट्रेट होती है। मशीन इसमें से ऑक्सीजन निकाल कर निर्धारित चैंबर में भर देती है। इसमें से नली के सहारे ऑक्सीजन बाहर निकलती है। इससे जरूरतमंद को सप्लाई की जाती है। बिजली से चलने वाली यह मशीन इंवर्टर के सहारे भी आसानी से काम करती है। या यू कह ले कि यह मशीन एक छोटा सा आक्सीजन का प्लांट हैं इससे 1 या 2 मरीजो को आक्सीजन दे सकते है।