हाट में महिलाओं ने दिखाया हुनर, सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने बांधा समां - Shivpuri News

शिवपुरी। महिला स्व सहायता समूह एवं महिला उद्यमियों के उत्पादों के प्रमोशन एवं विपणन के लिए जिले में तीन दिवसीय हुनर हाट का आयोजन किया गया था। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने हुनर हाट का शुभारंभ किया।

शहर के पर्यटक वेलकम सेंटर में लगी तीन दिवसीय हुनर हाट में जिले के दूरदराज के क्षेत्रों की महिला उद्यमियों ने अपने उत्पादों के स्टॉल लगाए। हुनर हाट में महिलाओं ने अपने उत्पादों के माध्यम से अपना हुनर दिखाया।
बुधवार की शाम को हुनर हाट का समापन किया गया। समापन समारोह में एसडीएम अरविंद बाजपेई ने हाट में भाग लेने वाली महिलाओं एवं बालिकाओं को प्रमाण पत्र प्रदान किए।

हुनर हाट में सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आकर्षण का केंद्र रहे। तीन दिवसीय हुनर हाट में बेटियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई, जिसमें लोक नृत्य, नाटक आदि के माध्यम से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने वाली थीम पर आधारित कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई। बुधवार की शाम समापन समारोह में इन्हें प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

उल्लेखनीय है कि हुनर हाट के माध्यम से मध्यप्रदेश सरकार द्वारा महिला स्व सहायता समूहों एवं महिला उद्यमियों के उत्पादों को बढ़ावा देने तथा उत्पादों को विक्रय एवं प्रदर्शन के लिए एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराना था। इसमें जिले के दूर दराज क्षेत्रों में निवासरत महिला शिल्पकारों, कारीगरों एवं हुनर के दस्तकारों के स्वनिर्मित उत्पादनों को प्रस्तुत किया गया। इस हाट का उद्देश्य हस्तशिल्प, गृह उद्योग एवं स्थानीय संस्कृति को बढावा देना था।

इन समूहों ने की भागीदारी
तीन दिवसीय हुनर हाट में एनआरएलएम, एनयूएलएम, महिला बाल विकास एवं हथकरघा एवं खादी ग्रामोद्योग के स्व सहायता समूह, उद्यमी के द्वारा सहभागिता की गयी। जिसमें आजीविका मिशन के तहत संचालित लक्ष्मी स्वयं सहायता समूह, नोहरी के लखेश्वरी समूह, मोहराई के शेरावाली समूह, करौली मां समूह रातौर, आदर्श सामुदायिक संगठन अछरौनी, नगरपालिका के मां राजेश्वरी और रोशनी स्व सहायता समूह सहित अन्य समूहों की भागीदारी रही।

इन समूहों द्वारा खानपान सामग्री चाट, पापड, अचार, आइसकीम, शहद, घी के अलावा सेनेटरी पेड्स, आर्टीफिसियल ज्वैलरी, रेडीमेड कपडे, जैकेट, सलवार सूट साड़ी एवं चंदेरी सिल्क की साडियों को प्रदर्शन एवं विक्रय हेतु लगाया गया।