ये चुनावी खबर नही हैं: लेकिन इस टिकिट का नशा युवा से लेकर नेताओं की रगों में - Shivpuri News

शिवपुरी। युवा से लेकर नेता तक टिकिट की गिरफत में हैं जबकि टिकिट के इस नशे ने शहर की एक युवती की जान तक ले ली थी बावजूद इसके शहर सहित अंचल में टिकिट का नशा खुलेआम चल रहा है और पुलिस इस कारोबार पर अंकुश तक नहीं लगा पा रही है।

आरएसएस के संगठन के पदाधिकारी को किया था पुलिस ने गिरफतार

टिकिट यानि स्मैक का नशा करते हुए बीते रोज पुलिस ने आरएसएस के सगठन के पदाधिकारी को गिरफतार किया था। यह प्रचारक अपने साथियों के साथ टिकिट का नशा कर रहा था तभी पुलिस ने उसे गिरफतार कर लिया।हालाकि इस मामले मेे आरएसएस के कार्यकर्ताओ ने सफाई दी हैं कि इन महोदय को 3 साल पूर्व आरएसएस से मुक्त कर दिया था।

शिवानी को देनी पडी जान
शहर के नबाव साहब रोड पर रहने वाली एक युवती शिवानी को उसके प्रेमी ने स्मैक के नशे की लत लगा दी जिसके बाद शिवानी ने स्मैक का ओवरडोज ले लिया जिससे उसकी मौत हो गई। जिसके बाद उसके शव को उसके दोस्त क्रषणपुरम में एक घर के बाहर रख आए थे जिसके बाद पुलिस ने शिवानी के दोस्तों को गिरफतार किया था।

250 से 300 रूपए में मिलता है टिकिट
टिकिट यानि स्मैक की एक पुडिया 250 से 300 रूपए में मिल रही है और शहर के कई युवा से लेकर हाई प्रोफाइल लोग इस नशे की गिरफत में है जबकि कई युवा नशा मुक्ति केद्रों में अपना इलाज करा रहे हैं।

गुना से आती है स्मैक
गुना के आसपास का इलाका राजस्थान से जुडा है और सबसे अधिक स्मैक राजस्थान के जरिए गुना में आती है और गुना में कुछ सफेदपोश इस कारोबार को अंजाम दे रहे हैं जो शिवपुरी में पुरानी शिवपुरी इलाके के अपने डीलर के पास माल भेजते हैं उसके बाद यह माल शहर सहित अंचल में सप्लाई किया जा रहा है।

पकडे जाने के डर से बदला कारोबार का रूप
स्मैक को लेकर पुलिस ने सख्ती अपनाई हुई थी तब कारोबारियों ने इसे बेचने के लिए नया तरीका अपना लिया था। वह पहले ही कुछ चिन्हित जगह पर स्मैक रख देते थे और आदी युवकों से पैसे लेकर वह जगह बता देते थे वहां से वह टिकिट की पुडिया उठा लेते थे।

पुलिस की सुस्त कार्रवाई से नशा कारोबारी के हौंसले बुलंद
पुलिस ने कुछ दिन तक तो स्मैक को लेकर अच्छी कार्रवाई की लेकिन जैसे जैसे समय बीता तो पुलिस की कार्रवाई ठंडी पड गई जिससे नशा कारोबारियों के हौंसले बुलंद है और वह इस नशे के कारोबार जिले भर में फैला रहे हैं।