फर्जी किसानों का हुआ भुगतान:27.61 लाख का घोटाला, सोसायटी प्रबंधक व ऑपरेटर पर FIR - kolaras News

कोलारस। कोलारस के राई खरीदी केंद्र पर दो साल पहले समर्थन मूल्य खरीदी 27.61 लाख रुपए का फर्जीवाड़ा करने पर तत्कालीन सोसायटी प्रबंधक व ऑपरेटर के खिलाफ सोमवार को कोलारस पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। दो साल पहले हुई खरीदी में शॉर्टेज के चलते 41 किसानों को भुगतान नहीं हुआ। मामला लंबे समय से चला आ रहा था, जिसमें अब जाकर कार्रवाई हुई है।

प्राथमिक कृषि शाख सहकारी संस्था राई के प्रबंधक राकेश भार्गव ने कोलारस पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। राई उपार्जन केंद्र पर साल 2018-19 में समर्थन मूल्य पर उड़द, मूंगफली व मूंग की खरीदी हुई थी।

परिवहन में 434 क्विंटल की शॉर्टेज सामने आई थी। जिसकी 27 लाख 61 हजार 248 रुपए कीमत रही थी। शॉर्टेज की वजह से 41 किसानों को भुगतान नहीं मिल पाया। लुकवासा समिति के तत्कालीन प्रबंधक विजयराज सिंह रघुवंशी और ऑपरेटर ब्रजकिशोर ओझा को राई खरीदी की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। मामले में दाेनों ने उक्त रकम जमा नहीं कराई।

इसलिए सेामवार काे दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामला विवेचना में ले लिया है। बताया जा रहा है कि फर्जी तरीके से दूसरे लोगों की पर्चियां काट दी गईं, जो जांच में सामने आ गईं। फर्जी किसानों को भुगतान हो गया और शॉर्टेज की वजह से उपज तुलवाने वाले 41 किसान भुगतान से वंचित रह गए।