कमजोर हुआ कोरोनाः शादी व भंडारे के लिए नही लेनी होगी कलेक्टर से परमिशन, पढिए क्या कुछ बदला - Shivpuri News

शिवपुरी। पूरी दुनिया के मानव की रफ्तार थामने वाली महामारी कोरोना को अब मानव पटकने की ओर बड रहा है और कोरोना कमजोर हो रहा हैं। शासन ने कोरोना काल में लगभग सभी कार्यक्रमो पर रोक लगाकार गाईडलाईन जारी कर दी थी।

सन 2021 में कोरोना कमजोर पड गया हैं,धीरे'-धीरे सब कुछ समान्य हो रहा हैं,गाईडलाईन में शिथिलता भी आ गई हैं,नई कोरोना गाइड लाइन के बाद अब कई पाबंदियां खत्म हो गई हैं। शादी,भडांरे और सार्वजनिक कार्यक्रमो में अब कलेक्टर की परमिशन की आवश्यकता नही हैं,लेकिन सोशल और मास्क अभी भी जरूरी हैं।

शर्तों का उल्लंघन करने पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

कोरोनाकाल में मंदिरों से घंटियां हटा दी गई थी या उनमें कपड़े लपेट दिए गए थे, ताकि लोग उसे छू न सकें। लेकिन अब लोग मंदिरों में घंटियां बजा सकेंगे। जगराते, भंडारे समेत अन्य धार्मिक आयोजन भी हो सकेंगे। लेकिन ऐसे कार्यक्रमों में भी डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा।

पुरी क्षमता से खुल सकेंगें सिनेमाघार
अब तक सिनेमाघर 50 प्रतिशत क्षमता पर ही संचालित करने की अनुमति थी। लेकिन, अब शत-प्रतिशत क्षमता के साथ इनका संचालन किया जा सकेगा। शिव मंदिर टॉकीज संचालक प्रदीप मित्तल ने बताया कि दर्शक नहीं आ रहे हैं, मार्च में टॉकीज शुरू की जाएगी।

100 से ज्यादा लोग आ सकेंगे
कोरोना के चलते शादी-विवाह और पारिवारिक आयोजनों में 100 से ज्यादा लोग नहीं बुला सकते थे। हाॅल में आधी क्षमता से संचालन होता था। लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा। सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा सारी पाबंदियां जिला प्रशासन ने खत्म कर दी हैं।

कोरोना संक्रमण के दौरान दुकानों और संस्थानों में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए सर्कल बनाने के आदेश थे। हालांकि अब ऐसी व्यवस्था नहीं है। लेकिन, दुकानदारों को अब भी यह ध्यान रखना होगा कि दुकान के भीतर दूरी बनी रहे। जिले में अब हाट बाजार भी सभी जगह लगना शुरू हो गए हैं।

रविवार का सूर्योदय कोरोना को लेकर गुड न्यूज लेकर आया था। मप्र में बीते रविवार को कोरोना से एक मौत नही हुई हैं। शिवपुरी जिले की हैल्थ बुलेटिन की बात करे तो रविवार को 86 लोगो की काॅविड 19 की जांच रिर्पोट प्राप्त हुई थी,इन रिर्पोट मे एक भी मरीज पाॅजीटिव नही आया हैं। जिले में मात्र 13 एक्टिव केस हैं।