स्टूडेंटो के लिए गुड न्यूज: कोरोना काल में लॉक हुए जिले के छात्रावास अनलॉक होंगें - Shivpuri News

शिवपुरी। जिले में 11 महीने बाद छात्रावास दोबारा खुलने जा रहे हैं। इसमें 10वीं-12वीं और कॉलेज के विद्यार्थी रहकर पढ़ाई कर सकेंगे। दरअसल, परीक्षा सिर पर है। ऐसे में ग्रामीण विद्यार्थियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी के चलते आदिम जाति विकास विभाग ने मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद तैयारी शुरू कर दी है। छात्रावास खुलने से जिले के एक हजार से अधिक विद्यार्थियों को फायदा मिलेगा।

जिले के छात्रावास 22 फरवरी सोमवार से अनलॉक होने जा रहे हैं। 10वीं-12वीं की बोर्ड तथा कॉलेज की परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए जनजातीय वर्ग के विद्यार्थियों को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। हालांकि छात्रावासों में कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियों का पालन अनिवार्य होगा। शासन के आदेश के मुताबिक जूनियर छात्रावास अभी नहीं खोले जाएंगे।

वहीं हॉस्टलों में 9वीं-11वीं के विद्यार्थियों को प्रवेश नहीं मिलेगा। कोरोना को ध्यान में रखते हुए छात्रावासों में साफ-सफाई, स्वच्छता तथा सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जाएगी। इस उद्देश्य से छात्रावासों में कक्षा 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को ही रहने की अनुमति दी जाएगी। अभिभावकों की सहमति आवश्यक होगी।

75 छात्रावास खुलेंगे जहां छात्र रहकर अध्ययन कर सकेंगे

आदिम जाति कल्याण विभाग के डी ओ आर एस परिहार की माने तो जिले में कुल 75 छात्रावास है। यह आदिम जाति विकास विभाग के छात्रावास कक्षा 10 और 12 के विद्यार्थियों के लिए हैं। जहां पर कक्षा पहली से लेकर 12वीं तक के विद्यार्थी रहकर पढ़ाई करते हैं। लेकिन पिछले साल कोरोना संक्रमण के कारण 20 मार्च 2020 को सभी छात्रावास बंद कर दिए गए थे। आदिम जाति विकास विभाग के छात्रावास 22 फरवरी से खुल जाएंगे।

छात्रावास को लेकर शासन स्तर पर तैयारी चल रही है

छात्रावास खोलने को लेकर शासन स्तर पर तैयारी चल रही है। इसके चलते विभाग अलर्ट है। पिछले 11 माह से बंद पड़े छात्रावास में प्रारंभिक रूप से साफ-सफाई आदि तैयारी कराई जा रही है। विस्तृत गाइड लाइन मिलने पर उस हिसाब विद्यार्थियों को यहां आवास सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। सोमवार से हम इसकी शुरुआत कर रहे हैं।
अक्षय कुमार सिंह, कलेक्टर शिवपुरी