प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना बनी मृतक धर्मेन्द्र के परिजनों के लिए वरदान - Shivpuri News

शिवपुरी। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना बीमा धारक हितग्राही के परिजनों के लिए वरदान साबित हो रही है। सतनवाड़ा में 40 वर्षीय धर्मेन्द्र रावत की अचानक हृदयाघात से मौत हो गई।

परिवार में कोई कमाने वाला नहीं है, दो छोटे-छोटे बच्चे और विधवा पत्नी है, लेकिन मृतक धर्मेन्द्र द्वारा मध्यांचल ग्रामीण बैंक में प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना का बीमा धारक हितग्राही बनना परिवार के लिए लाभकारी साबित हुआ और मध्यांचल ग्रामीण बैंक सतनवाड़ा में शुक्रवार को एक सादे समारोह में क्षेत्रीय प्रबंधक बीडी गुप्ता के प्रतिनिधि बैंक अधिकारी सुमत कोचेटा ने धर्मेन्द्र की विधवा पत्नी को डेढ़ लाख रूपए का चैक और 50 हजार रूपए की राशि बचत खाते में जमा कराकर सौंपी।

जब मिथलेश रावत को यह राशि दी गई तो वह काफी भावुक हो उठी। उसने कहा कि पति की भरपाई तो पूरी नहीं हो सकती, लेकिन इस राशि से परिवार को जीने का सहारा अवश्य मिल गया है। इस अवसर पर शाखा प्रबंधक ओपी गुप्ता, मंगलम संचालक अशोक कोचेटा, रंजीत गुप्ता, सुरेशचंद जैन, कमर सिंह ओझा, बुद्धराम रावत, नंदकिशोर धाकड़, सोनू अग्रवाल और रिंकू अग्रवाल आदि ग्रामीणजन भी उपस्थित थे।


समारोह में बैंक अधिकारी सुमत कोचेटा ने अपने उद्बोधन में बैंक ग्राहकों से अपील की कि वह बैंक में प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना का बीमा अवश्य कराएं। प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना में सालभर में महज 12 रूपया किस्त के रूप में देना होता है और हितग्राही की दुर्घटना में मृत्यु होने पर दो लाख रूपए की बीमा राशि दी जाती है।

जबकि प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना में 330 रूपए वार्षिक बीमा किस्त के रूप में जमा कराने होते हैं और बीमा अवधि में बीमा धारक हितग्राही की सामान्य या दुर्घटना में मृत्यु होने पर दो लाख रूपए की बीमा राशि दी जाती है। श्री कोचेटा ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना का केस त्वरितता से निपटाने के लिए शाखा प्रबंधक की सराहना की और कहा कि इससे बैंक की सामाजिक भूमिका भी सुनिश्चित हुई है।

बैंक प्रबंधक ओपी गुप्ता ने बताया कि अभी तक प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना में 6 मृतकों के परिजनों को सतनवाड़ा ब्रांच द्वारा दो-दो लाख रूपए की बीमा राशि दी गई है। इनमें लोकेन्द्र रावत की मृत्यु होने पर उसके परिजनों को दोनों बीमा राशि का लाभ मिला और उन्हें चार लाख रूपए दिए गए।

सतनवाड़ा शाखा ने छह हितग्राहियों के परिजनों को सौंपी दो-दो लाख की राशि
मध्यांचल ग्रामीण बैंक सतनवाड़ा शाखा द्वारा अभी तक प्रधानमंत्री की दोनों बीमा योजना के तहत 6 हितग्राहियों के परिजनों को दो-दो लाख रूपए की राशि दी गई।

लोकेन्द्र रावत ने प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री बीमा योजना की किस्तें भरी थीं और उनकी दुर्घटना में मृत्यु होने पर उनके परिजनों को दो-दो लाख रूपए पृथक-पृथक रूप से कुल चार लाख रूपए दिए गए।

लॉकडाउन से अब तक प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना के तहत 4 हितग्राहियों के परिजनों को दो-दो लाख रूपए की राशि दी गई। इन मृतक हितग्राहियों के नाम हैं- जगदीश गुर्जर, मुकेश आदिवासी, रामेश्वर आदिवासी और धर्मेन्द्र रावत।