साहब! जिन लोगों से प्रताणित होकर हमारे बेटे ने आत्महत्या की, उसके आरोपी खुलेआम घूम रहे है - karera News

करैरा। बीते एक सप्ताह पूर्व करैरा अस्पताल में भर्ती हुए एक युवक ने फांसी लगा आत्महत्या की घटना कारित कर ली। इसके कुछ ही दिनों बाद युवक का एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह अपनी आत्महत्या के पीछे का कारण बताकर कुछ लोगों के नाम भी बता रहा है। मामले को लेकर पुलिस ने आज तक कोई कार्रवाई नहीं की है जिसको लेकर मृतक के परिजन आज एसपी कार्यालय पहुंची और इस मामले की शिकायत की।

मृतक के पिता रामनिवास पाल ने एसपी से आवेदन के माध्यम से की शिकायत करते हुए बताया कि मृतक टिंकू पाल निवासी ग्राम सलैया थाना अमोला में रामलीला देखने गया था। तभी वहां जगदीश पुत्र सिरनाम पाल निवासी दुर्गापुर करैरा, दिनेश पुत्र भानू निवासी सलैया, दिनेश पाल निवासी वैसी पोहरी, रानी निवासी सलैया, अनीता, पप्पू पाल निवासी सलैया एक राय होकर आए और मेरे बेटे की बेरहमी से मारपीट कर दी।

जैसे-तैसे जान बचाकर वह भागा तो सिरसौद चौराहे पर उसका एक्सीडेंट हो गया जिसका इलाज टिंकू ने करैरा अस्पताल में जाकर कराया। तभी रात में ही उक्त लोग टिंकू का पीछा करते हुए करैरा अस्पताल पहुंचे और वहां पर गाली-गलौंज व लड़ाई झगड़ा करने लगे।

इसी बीच टिंकू ने एक वीडियो बनाया जिसमें वह मारपीट करने वाले आरोपितों के नाम बता रहा है। परिजनों ने आरोप लगाया कि उक्त लोगों ने रात में ही करैरा अस्पताल पहुंचकर मेरे पुत्र की हत्या कर दी और शव को रस्सी से बांधकर फांसी पर लटका दिया। अगले दिन थाना प्रभारी ने हमें घटना के बारे में बताया और हम मौके पर पहुंचे।

यहां पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया और कहा कि थाने आकर शिकायत दर्ज करवा देना। बेटे का अंतिम संस्कार करने के बाद जब हम थाने में शिकायत दर्ज कराने पहुंचे तो शिकायत तो दर्ज कर ली गई लेकिन एफआईआर की कोई प्रति आज तक हमें नहीं दी गई है और न ही उक्त लोगों के खिलाफ आज तक कोई कार्रवाई की है।

वहीं आरोपितों द्वारा मेरे मोबाइल पर धमकी भरे फोन आ रहे हैं कि राजीनामा कर लो नहीं तो तुम्हें व तुम्हारे परिवार को जान से मार देंगे। मामले को लेकर जब पुलिस के पास जाते हैं तो पुलिस कह देती है कि तुम्हारे पुत्र ने आत्महत्या की है और भगा देते हैं। रामनिवास पाल ने एसपी को आवेदन देकर मामले में कार्रवाई कर उसके पुत्र के हत्यारों को गिरफ्तार कर कार्रवाई की मांग कर सुरक्षा दिलाए जाने की मांग की है।