सहाब! धौरिया में मजदूरों का काम मशीन कर रही है, जांच कराई जाए - Shivpuri News

शिवपुरी। बैसे तो इस पंचवर्षीय योजना में जिला पंचायत सीईओं की आंखों के आगे सरपंच सचिव जमकर घोटाले कर रहे है। परंतु यह घोटाला अधिकारीयों और कर्मचारीयों को दिखाई नहीं दे रहा है। जिसका कारण यह है कि हर काम में उपर से नीचे तक चढौत्तरी चढाई जाती है। जिसके चलते हालात यह है कि जिले में जमकर भ्रष्टाचार जारी है। इसी कि चलते आज कलेक्ट्रेट कार्यालय में ग्राम धौरिया से आए ग्रामीणों से सरपंच और सचिव पर जमकर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए है। 

जनसुनवाई में आवेदन देते हुए ग्रामीणों ने बताया है कि ग्राम पंचायत धौरिया में पांच बर्षों से लगातार वाटरसैड के कार्य चल रहे हैं । उन कार्यों पर आज दिनांक तक मजदूरों को मौके पर कोई मजदूरी नहीं दी गई है । सभी कार्य मशीनों से किये जा रहे हैं । मस्टररोलों पर जो मजदूर अंकित किये गये हैं ।

ग्रामीणों का स्पष्ट आरोप है कि जो मजदूर अंकित किए है उसने कथन ले सकते हैं जिसके चलते वाटरसैड अधिकारी व ग्राम पंचायत सरपंच की मन मर्जी से कार्य किये जाते हैं । जैसे कि खेत तालाब निर्माण , रपटा निर्माण , स्टॉक डैम निर्माण तलैया निर्माण आदि कार्यों की तकनीकी प्रतिवेदन की ग्रामीणों के समक्ष व जांच के समक्ष वाटरसैड अधिकारी फोटोकॉफी प्रदान करायें इसके बाद जांच करें । 

तब समक्ष में तकनीकी प्रतिवेदन का खण्डन करें कि पूरा कार्य मशीनों से ही होता है क्या ? मजदूरी बिल्कुल नहीं होती है क्या ? हम ग्रामीणों को देखने में आया है कि ग्राम पंचायत धौरिया में अंधेर नगरी चौपट प्रजा का हाल आज तक कोई भी अधिकारी ग्रागीणों की सुनने नहीं आया है अंतिम बार निवेदन कर जांच चाहते हैं। अन्यथा हम ग्रामीणों को जनहित याचिका दायर कर माननीय न्यायालय को प्रतिवेदन की प्रति लेकर न्यायालय को जाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा ।