तालाब के सौन्दर्य करण के नाम पर लाखो का घोटाला,फर्जी फर्म पर हुआ भुगतान - Badarwas News

बदरवास। बदरवास जनपद पंचायत बदरवास के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत पगारा में तालाब के सौन्दर्य करण के नाम पर लाखो को घोटाल हुआ हैं। तालाब का सौंदर्य करण तो नही हुआ लेकिन भुगतान अवश्य हो गया हैं। 

बताया जा रहा हैं कि इस तालाब के लिए इस पंचायत में तालाब के सौन्दर्यकरण के लिए 2017.18 में 5 लाख 72 हजार रूपए की राशि स्वीकृत की गई थी, लेकिन तालाब का न तो सौन्दर्यकरण हुआ और नहीं गांव विकास हुआ लेकिन यह राशि का जरूर पंचायत सचिव एवं सरपंच के सहयोग से आहरण कर लिया गया। 

इससे साफ जाहिर होता हैं कि पंचायत में किस तरह से विकास कार्य चल रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पंचायत सचिव एवं सरपंच द्वारा सुदूर संपर्क सड़क का निर्माण भी कराया गया जो कि पगारा हरिजन बस्ती से मेघोना डांग की ओर डाली जाना दर्शायी जा रही हैं। 

जबकि इस सड़क सिर्फ और सिर्फ मिट्टी से गड्डों का भराव कराकर रोड़ डालना दर्शाया गया हैं। जिसमें फर्जी बिलों का सहारा लेकर सड़क पर रोलर चलान तक दर्शा दिया जबकि ग्रामीणों का कहना हैं कि इस सड़क पर रोलर चला ही नहीं हैं और रोलर चलाने की राशि फर्जी फर्म के सहारे भुगतान भी निकाल लिया गया। 

इन कार्यों की यदि विधिवत जांच हो जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी सामने आ जाएगा लेकिन जनपद पंचायत के इंजीनियर से लेकर अधिकारी तक इस भ्रष्टाचार में कहीं न कहीं संलिप्त हैं इसलिए आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। ग्रामीणों ने शिकायत की हैं कि यदि बदरवास जनपद के अधिकारी शिकायत को नहीं सुनते हैं तो हम जिला पंचायत में पहुंचकर वरिष्ठ अधिकारियों तक शिकायत निर्माण कार्यो की जांच करायेंगे। 

बिना जीएसटी की फर्म पर हुआ भुगतान 

बदरवास जनपद पंचायत के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत पगारा में तालाब के नाम पर जय श्री राम ट्रेडर्स के नाम 1 लाख 79 हजार रूपए की राशि दिनांक 2 मई 2018 को निकाली गई हैं। जिसका बिल नम्बर 851, 800, 852 व 853, 854, 857, 858, 859, सहित अन्य बिल क्रमांक के बिल भी निकाले गए जबकि इस फर्म के नाम कोई भी जीएसटी नम्बर फर्जी से अंकित कर रखा हैं। 

जबकि वहीं इसी पंचायत सुदूर संपर्क सड़क के नाम पर इसी फर्म को 1 लाख 87 हजार रूपए का भुगतान किया हैं। जबकि सड़क सिर्फ और सिर्फ मिट्टी डालकर गड्डे भरे गए हैं। जिससे राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं। इस मिट्टी दवाने के लिए फर्जी तरीके से कागजों में रोलर चलाने के बिल भी लगाए गए हैं। जिसकी शिकायत बदरवास जनपद में की गई हैं। 

सरपंच ने निकाले सफाई के नाम 12 हजार

ग्राम पंचायत पगारा में सफाई के नाम सरपंच ने स्वयं अपने नाम से ही दिनांक 4.11.20 को 12 हजार रूपए की राशि का आहरण किया हैं। जबकि ग्राम पंचायत बगौरिया में आज तक कोई भी सफाई नहीं कराई गई हैं। जिसकी जानकारी ग्रामीणों द्वारा पत्रकारों को दी गई। इससे साफ जाहिर होता हैं कि पंचायत में किस तरह स्वच्छता अभियान का कार्य चल रहा हैं।

मिठाई के दुकान से मास्क और साबुन के बिल

ग्राम पंचायत पगारा में रोजगार सहायक द्वारा कोरोना काल में मिठाई के दुकान से मास्क और साबुन खरीदना दर्शाया गया हैं और मिठाई विक्रेता को 23 हजार रूपए की राशि का भुगतान भी किया गया हैं।