ऑनलाइन ठगी का शिकार हुए मनोज जैन,ठग ने पैसे देने के बहाने अपने खाते में ट्रासंफर करा लिए 77 हजार - Shivpuri News

पोहरी। पोहरी के रहने वाले व्यक्ति ने शिवपुरी शहर स्थित अपना मकान किराए पर देने की सूचना बेटे के जरिए मोबाइल एप पर डलवा दी। अज्ञात ठग ने खुद को सीआरपीएफ जवान बताकर 77 हजार रुपए खाते से पार कर दिए। दरअसल एडवांस किराया देने के नाम पर ठग ने पहला क्यूआर कोड भेजकर 1 रूपए भेजा। इसके बाद दूसरा क्यूआर भेजकर 5 बार स्कैन कराया और 77 हजार रुपए की रकम बैंक खाते से गायब हो गई। 

जानकारी के मुताबिक मनोज कुमार जैन उम्र 49 साल पुत्र लक्ष्मणलाल निवासी कृषि मंडी रोड पोहरी ने पुलिस थाने में ऑनलाइन ठगी संबंधी शिकायती आवेदन दिया है। मनोज का कहना है कि बेटे नीरू ने मेरा शिवपुरी वाला मकान किराए से देने के लिए मैजिक ब्रिक्स एप पर सूचना डाली थी कि जिस किसी को मकान किराए से चाहिए तो मोबाइल नंबर 9893778051 पर संपर्क करें। 

इसके बाद 10 जनवरी की सुबह 10 बजे मोबाइल नंबर 9479591865 से फोन आया और बोला कि मेरा नाम रामविलास यादव है। मुझे किराए से मकान लेना है। मैं सीआरपीएफ में हूं और वर्तमान में मेरी पोस्टिंग देहरादून में है। मैं कुछ दिनों में शिवपुरी आने वाला हूं। क्योंकि मेरी पोस्टिंग शिवपुरी हो गई है। 

इसी बात पर मैंने रामविलास यादव से पूछा कि आपको तो सरकारी आवास आवंटित होता है। इस बात पर रामविलास ने बताया कि मैं सरकारी क्वाटर में रहने का इच्छुक नहीं हूं। मेरे परिवार में मैंए मेरी पत्नी और बेटी है।

आधारकार्ड, फोटो आईडी भी भेजी, फिर हुई थी डील फाइनल

मनोज का कहना है कि 10 तारीख के बाद 14 जनवरी को फिर से फोन करके रामविलास ने मेरे मकान के फोटो मंगवाए। मैंने मकान के फोटो रामविलास यादव के वाट्सएप नंबर 8696787153 पर भेज दिए। 15 जनवरी की शाम करीब 5 बजे रामनिवास यादव ने मेरे मोबाइल पर फोन करके मकान किराए से लेने की हां बोला और मकान के फोटो देखकर किराए के बारे में पूछा। 

मैंने रामविलास से अपनी आईडी और आधारकार्ड आदि दस्तावेज भेजने के लिए कहा। रामनिवास ने मेरे वाट्सएप नंबर 9893778051 पर अपनी आईडी व आधारकार्ड का फोटो भेज दिया और मकान किराया 11 हजार रुपए प्रतिमाह बताया। हम दोनों में दो माह के एडवांस किराए की बात तय हो गई।

1 रुपए खाते में जारी होने के बाद रामविलास ने दूसरा क्यूआर कोड भेजा और कहा कि अब आप इससे 22 हजार रुपए अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर लें। तब मैंने क्यूआर कोड से रुपए ट्रांसफर किए तो रामविलास बोला कि अभी रुपए मेरे खाते से तुम्हारे खाते में ट्रांसफर नहीं हुए हैं। 

इस तरह रामविलास ने चार बार क्यूआर कोड स्केन कराकर रुपए ट्रांसफर कराए। जब मैंने अपना खाते का बैलेंस चैक किया तो पता चला कि मेरे खाते में रुपए आने की बजाय 66 हजार रुपए एवं दूसरे खाते से 22 हजार रुपए रामविलास ने धोखाधड़ी से अपने अकाउंट एवं फोन नंबर 7846961325 पर ट्रांसफर करवा लिए। मैने उससे फोन पर बात करना चाही तो स्विच ऑफ आने लगा।