जिन प्राचार्यो ने अतिथि शिक्षक की नियुक्ति ऑफ लाइन की है वे अपनी जेब से वेतन दे: DEO - Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी में सीएम हैल्पलाईन को स्वयं हैल्प की आवश्यकता हो रही हैं,अभी हाल में शिवपुरी कलेक्टर ने टीएल बैठक में जिले के अधिकारियो को निर्देशित किया था कि जिले में सीएम हैल्पलाईनो का निराकरण समय सीमा में करे। कुछ हैल्पलाईन तो 500 से अधिक पुरानी हैं। 

इस क्रम में जिला शिक्षा अधिकारी और पूरे शिक्षा विभाग की गले की हड्डी बनी अतिथि शिक्षको के वेतन की सीएम हैल्पलाईन अटक गई हैं। अतिथि शिक्षको के वेतन के मामलो की कई शिकायते पैडिंग हैं। सीएम हैल्पलाईनो के निबटारे के लिए जिला शिक्षा अधिकारी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियो की बैठक ली। 

इस बैठक में अतिथि शिक्षको के वेतन के मामले की हैल्पलाईन की समीक्षा की है। बताया जा रहा हैं कि जिले में कुछ अतिथि शिक्षको को वेतन नही मिल रहा हैं,इस कारण अतिथि शिक्षको ने सीएम हैल्पलाईन में शिकायत कर दी। 

वेतन ना मिलना नियमविरूद्ध नियुक्ति करना हैं। अतिथि शिक्षको की नियुक्ति आनलाईन करनी थी लेकिन कुछ प्राचार्या ने रिश्वत लेकर नियमविरूद्ध नियुक्तिया आफलाईन कर दी,इस कारण उनकी वेतन अटक गई है। जिसके चलते जिला शिक्षा अधिकारी दीपक पांडेय ने अधिकारियों की बैठक लेकर सीधे निर्देश दिए हैं कि जिन प्राचार्यों ने अतिथियों को रखने में लापरवाही बरती अब वही उनके वेतन का भुगतान करें। 

क्योंकि अतिथियों की नियुक्ति तो ऑनलाइन करनी थी फिर ऑफ लाइन इनकी नियुक्ति कैसे हुई। जिला शिक्षा अधिकारी दीपक पांडेय ने उत्कृष्ट विद्यालय परिसर के मीटिंग हॉल में संबंधित अधिकारियों को सीधी चेतावनी देते हुआ कहा कि सीएम हेल्पलाइन शिकायत निपटारे में प्रदेश में हम फिसड्डी हैं। 

मुरैना और ग्वालियर के बाद हमारा नंबर है । यह ठीक नहीं हैं 7 दिन का अल्टीमेटम में आपको देता हूं, इन सीएम हैल्पलाइन की शिकायतों का निपटारा करिए और इसके लिए संबंधित से जाकर मिलिए बात करिए। हमें शिकायत का समाधान चाहिए और उसके लिए आपको सतत प्रयास करने होंगे। 7 दिन में यदि आपने इसका समाधान नहीं किया तो फिर हमें आप के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी।