गांरटी पीरियड में उखडने लगी प्रधानमंत्री ग्राम योजना की सडकें, कोलारस से राई तक गढडों में तब्दील सडक - Shivpuri News

कोलारस। देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेई के कार्यकाल में  प्रधानमंत्री सड़क योजना  जैसी जन कल्याणकारी योजना लागू हुई थी इस योजना के तहत शहरों को गांव से जोडऩे के लिए सड़कें निर्मित की गई थी। कोलारस विधानसभा क्षेत्र में भी सड़कों का जाल इसी योजना के  तहत फैलाया गया गया है परंतु अफसोस वाली बात है कि इन सड़कों को बनाने वाले ठेकेदारों द्वारा सड़क बनाने में घटिया मटेरियल का उपयोग किया जिसके चलते अधिकांश सड़कें गड्ढों में तब्दील हो गई हैं।

ग्रामीण जनों को पहले जैसी परेशानियां दे रही है जब सरकार बन रही थी तब ग्रामीणजनों द्वारा शिकायतें की गई परंतु भ्रष्टाचार के सिस्टम के चलते किसी भी ठेकेदार पर आज तक कोई कार्यवाही नहीं की गई अब देखना यह है कि इन सड़को पुन: दुरूस्त करापाते हैं या फिर इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र के नागरिक इन गड्डों भरी सड़क पर चलने के विवश बने रहेंगे।

कोलारस विधानसभा क्षेत्र सड़कों की हालत दयनी

कोलारस से राई, कोलारस बस स्टैंड से कुमरौआ तक फोर लाइन से पनवारी ग्राम तक कोलारस से एप्रोच रोड धर्मशाला मंदिर के सामने से भडोता तक देहररदा चौराहे से डोडयाई कनावदा तक बनी सड़क कोलारस से मोहरा फोरलाईन से मोहराई तक बनी सड़क प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनवाई गई सड़कें जिनमें से अधिकांश सड़कें तो गारंटी पीरियड में है परंतु सड़क में गड्ढे ही गड्ढे नजर आ रहे हैं।

जिसके चलते ग्रामीण लोग परेशानियां झेल रहे है। इन सड़कों पर आए दिन दुर्घटनाएं हो रही है। प्रधानमंत्री सड़क योजना से संबंधित विभाग भी  कार्रवाई नहीं करता और सब लोग मिलकर भ्रष्टाचार कर रहे हैं प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत लाखों रुपए की लागत से कोलारस से राई तक बनाई गई सड़क में गड्ढे होने के चलते आए दिन हादसे होते हैं।  

कई लोगों की जान तक इन सड़को के गड्ढों को बचाने के फेर में जा चुकी है  इस सड़क की अनेक बार मरम्मत भी की गई है इसके बावजूद भी सड़क पर गड्ढे अधिक दिखाई दे रहे हैं। ऐसा ही हाल अधिकांश सड़कों पर दिखाई दे रहा है। इसके बावजूद भी ठेकेदारों पर कार्रवाई नहीं की गई जिसके चलते ठेकेदारों के हौसले बुलंद  है।