अनुमति नहीं मिली तो रातों रात चबूतरा बनाकर मूर्ति रख रहे थे, मामला दर्ज - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
जिले के अनुविभागीय मुख्यालय करैरा में पुलिस सहायता केंद्र के सामने सड़क पर शासकीय भूमि पर अवैध रूप से चबूतरा बनाकर उस पर प्रतिमा की स्थापना करने का प्रयास करने वाले असामाजिक तत्वों के विरुद्ध कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

इस मामले में दो व्यक्तियों एवं उनके साथियों के विरुद्ध रविवार सुबह करैरा पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। करैरा तहसीलदार गौरीशंकर बैरवा ने जानकारी देते हुए बताया कि बीती रात करैरा के पुलिस सहायता केंद्र के सामने कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा अवैध रूप से बीच सड़क पर संभवत: मूर्ति स्थापित करने के उद्देश्य से एक चबूतरे का निर्माण किया गया। असामाजिक तत्वों की जानकारी पता करने के लिए वहां लगे सीसीटीवी फुटेज को भी चेक किया गया। इसके माध्यम से लोगों का पता किया गया।

उन्होंने बताया कि प्रशासन और पुलिस की टीम द्वारा मौके पर पहुंचकर चबूतरे को हटाने की कार्यवाही की गयी। टीम में तहसीलदार करैरा गौरीशंकर बैरवा, सीएमओ दिनेश श्रीवास्तव, नायब तहसीलदार राजेंद्र जाटव, उप निरीक्षक कुलदीप सिंह, राजस्व निरीक्षक विनोद सोनी सहित पुलिस व प्रशासन की टीम मौजूद रही।

इस मामले में पुलिस ने प्रकरण दर्ज करके कार्यवाही शुरू कर दी है। इस मामले में विनय मिश्रा,प्रशांत भार्गव सहित तीन अज्ञात लोगों पर नगर पालिका अधिनियम 1961 की धारा 223, भारतीय दंड संहिता की धारा 295 ए, 511 और 447 के तहत एफ आई आर दर्ज की गई है। इस मामले में विकाश क्रांति के सदस्य विनय मिश्रा का कहना है कि वहां कुछ दिनों से किसी धर्म विशेष की मूर्ति को रखने का प्रयास चल रहा था। इसलिए उन्होंने यह मूर्ति रखने के लिए प्रशासन से अनुमति भी मांगी परंतु उन्हें अनुमति नहीं मिली इसलिए उन्होंने यह योजना बनाई।