पंचायत का फतवा: नही होगा मतदान, बूडदा गांव ने किया लोकतंत्र के पर्व का बहिष्कार - pohri news

पोहरी। खबर जिलेे के पोहरी उपचुनाव के मतदान को लेकर आ रही हैं कि जिले की श्योपुर सीमा पर पडने वाली ग्राम पंचायत बूडदा के बूडदा गांव में आज लोकतंत्र के पर्व का बहिष्कार कर दिया। आज मतदान के दिन मतदान का बहिष्कार कर दिया। ग्रामीणो ने पूर्व से ही इस बहिष्कार का ऐलान कर दिया था।

इस गांव की सीमा से निकली पार्वती नदी पर अपर ककेटो डेम का निर्माण सन 2012 में हुआ था। डेम बनने के कारण इस गांव के निवासियो की भूमि डूब क्षेत्र में आ गई। भूमि डूब में आने वाले सभी परिवारो को मुआबजा मिल गया था। लेकिन यह गांव डूब में नही लिया गया था। बताया जा रहा हैं कि वर्षाकाल में जब डेम पानी से लबालब हो जाता हैं तो इस गांव में अपर ककेटो डेम का पानी भर जाता हैं,जहरीले जीव जंतु गांव घरो में घुस जाते हैं और कई मौते हो जाती हैं।  पिछले 8 वर्षो से इस गांव के निवासी इस विकास के दंश को झेल रहे हैं

ग्रामीणो की मांग थी कि इस गांव में पानी भरने के कारण गांव को भी डूब में माना जाए और उन्है उनके मकानो का मुआबजा दिया जाए,लेकिन प्रशासन ने इस गांव के 500 परिवारो की सुनवाई नही कर रहा था। इस गांव के लोगो ने प्रशासन को चुनाव की घोषणा होेने के बाद पोहरी एसडीएम को ज्ञापन भी सौपा था कि हमारी मांग पूरी नही होती तो हम मतदान का बहिष्कार करेंगें।

इस मामले की ग्राउंड रिर्पोटिंग भोपाल समाचार ने भी की थी,इसके बाद प्रशासन हरकत में आया था और शिवपुरी कलेक्टर और एसपी इस गांव में पहुंचे थे। लेकिन ग्रामीणो ने इनकी बता नही सुनी और आज मतदान के दिन इस गांव के निवासियो ने मतदान का बहिष्कार कर दिया। खबर लिखे जाने तक मतदान केन्द्र के 100 मीटर की दूरी को गांव के ग्रामीणो ने टच नही किया था और इस गांव की पोलिंग पर एक भी मत का दान नही हुआ हैं