कोलारस के युवाओं की रगों में दौड रहा है स्मैक का जहर, पुलिस आखेंं बंद कर बैठी है - kolaras News

कोलारस। बीते कुछ दिनों शिवपुरी में स्मैक के जहर से एक युवती की मौत के बाद प्रशासन ने तावडतोड कार्यवाही कर इस जहर को काफी हद तक रोकने की कोशिश की थी। परंतु जैसे ही अब पुलिस इस जहर से प्रति अपना नरम रूख किया इस जहर के कारोबारी फिर से सक्रिय हो गए है। यह जहर गुना की और से आ रहा है और कोलारस के युवाओं की रगों में दौड रहा है। इस जहर ने शिवपुरी के युवाओं से उनकी युवा अवस्था को छीन लिया है। परं

धीमा जहर स्मैक का नशा कोलारस के साथ अब आस-पास के गांव-कस्बों के किशोरों-युवाओं तक पहुँचने लगा है । सूत्रों के अनुसार पुलिस थाने के पीठ पीछे लगी कालोनी मे भी धीमा जहर जोरों से सप्लाई किया जा रहा है बावजूद इसके पुलिस प्रशासन तमाशबीन बनकर खेल देख रहा है कोलारस नगर में ही दो दर्जेन से अधिक किशोर व युवा स्मैक की लत का शिकार बन गए हैं।

स्मैक की अवैध सप्लाई गायत्री कालोनी, पडोरा,केपीएस के आसपास सहित अन्य स्थानो पर करने मे 7-8 लोग जुड़े हैं ,जो रोजाना यहां करीब 50 स्मैक की पुड़िया माचिस की डिब्बी मे रखकर इस नशे के आदी किशोरों तक सप्लाई करते हैं। ऐसा नहीं है कि पुलिस को इसकी भनक तक न हो, सूत्र बताते हैं कि पुलिस प्रशासन के पीठ पीछे चल रहे इस काले धंधे के रैकेट से वह भी वाकिफ है।

चाहे भले ही वह अनभिज्ञ बनते रहे,ऐसे मे कोई कार्यवाही को अंजाम नही दिया जा रहा है। ऐसे में यह नशा अब आस-पास के गांव-कस्बों तक पहुंचने लगा है। नशे की पूरी तरह जद में आने के बाद जब परिजनों को पता चलता है तो कई परिजनों ने ऐसे युवाओं का बड़े शहरों में नशा मुक्ति केंद्र पर ले जाकर इलाज भी करवाया है ।

स्मैक के विक्रेता शिकायत कर्ताओ को हानि न पहुचाए इसको लेकर लोग सामने आकर शिकायत करने मे डर महसूस कर रहे हैं। इसकी जानकारी जागरूक पाठकों ने शिवपुरी समाचार डॉट कॉम को दी है। जिसे सामाजिक सरोकार निभाते हुए इस पूरे रैकेट का खुलासा शिवपुरी समाचार लगातार करने के लिए प्रतिबद्ध है।