बजाज फाइनेंस मैनेजर सहित 3 पर केस दर्ज, युवक के ट्रेन से कटकर जान देने का मामला - Shivpuri News

शिवपुरी। बदरवास के कुल्हाड़ी गांव के पास देर शाम ट्रेन के आगे आकर युवक द्वारा आत्महत्या करने के मामले में पुलिस ने बजाज फायनेंस मैनेजर सहित तीन लोगों के खिलाफ धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले में तीनों आरोपियों को एक दिन की पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक नीरज पुत्र (24) पुत्र सुआलाल जाटव निवासी श्रीराम कॉलोनी बदरवास ने शनिवार की शाम कुल्हाड़ी गांव के पास ट्रेन के आगे आकर आत्महत्या कर ली थी। आत्महत्या की वजह बजाज फायनेंस ऑफिस में विवाद हुआ था। दरअसल नीरज ने 20 हजार का मोबाइल फायनेंस कराया था। लगभग किश्त चुका दी थीं। 

कैशबेक नहीं मिलने पर नीरज शनिवार को फायनेंस कंपनी के ऑफिस पहुंचा, जहां मैनेजर सहित दोनों ऑपरेटरों से मुंहवाद हो गया और नीरज के हाथों लैपटॉप टूट गया। इसके बाद नीरज वहां से भाग गया। बदरवास से दूर जाकर ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। 

मृतक की पत्नी रेखा बाई जाटव (20) की रिपोर्ट पर पुलिस ने तीन लोगों पर धारा 306 के तहत केस दर्ज किया है। जिनके खिलाफ केस दर्ज है उनके नाम ललित शर्मा, रत्नेश भार्गव और अरविंद यादव बताए जा रहे हैं। इनमें एक मैनेजर और दो ऑपरेटर हैं।

युवक ने पड़ोसी को फोन लगाकर आत्महत्या के बारे में बताया था

रामवीर जाटव निवासी ग्राम चकरामपुर हाल श्रीराम कॉलोनी ने पुलिस को बताया कि 28 नवंबर की शाम 6.30 बजे मेरे पड़ोसी को नीरज जाटव ने फोन लगाकर बताया था कि मैं ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर रहा हूं। मैं नीरज जाटव को देखने बूढ़ाडोंगर के पास रेलवे फाटक पहुंचा और कर्मचारी से पूछा तो उसने बताया कि एक लड़का होटल के पीछे रेलवे लाइन पर ट्रेन से कटकर खत्म हो गया है। मौके पर पहुंचा तो नीरज मृत मिला। इसके बाद परिवार वालों को सूचना दी।

बड़े भाई ने 20 हजार देकर राजीनामा किया, इसका युवक को पता नहीं था

शनिवार को दिन में झगड़े में लैपटॉप टूट जाने पर फायनेंस कंपनी वाले थाने में मुकदमा दर्ज कराने जा रहे थे। लेकिन नीरज के बड़े भाई सुशील जाटव ने आकर मामला संभाल लिया। कहीं से बीस हजार रुपए उधार लेकर कंपनी वालों को दे दिए। लेकिन इस बात का पता नीरज को नहीं चला और उसने पुलिस कार्रवाई के डर से आत्महत्या कर ली।