बढ रहा है कोरोना का ग्राफ आज 28 पॉजिटिव: CM ने यह मांगी कलेक्टर से जानकारी

शिवपुरी। कोरोना जैसे नेताओ को दोस्त हो गया हो,चुनाव के शोर में जैसे कोरोना दब गया हो। चुनाव के समय में मप्र की पॉजिटिव रेट 2.5 प्रतिशत रह गई थी। दिपावली आते—आते मप्र की पॉजिटिव दर 5 प्रतिशत की हो गई हैं। शिवपुरी जिले में भी कुछ ऐसा ही हुआ था चुनावी शोर में शिवपुरी जिले में इक्का-दुक्का मरीज पॉजीटिव आ रहे थे लेकिन अब लगातार कोरोना के मरीज मिल रहे हैं।

आज स्वास्थय विभाग की जारी बुलेटिन में 28 मरीज पॉजीटिव आए हैंं। शिवपुरी में अभी तक 3252 मरीज पॉजीटिव हो चुक है और वर्तमान में 366 मरीज पॉजीटिव हैंं। स्वास्थय विभाग से जारी बुलेटिन के अनुसार आज जिले की 362 जांचो की रिर्पोट आई हैं। जिसमें 28 मरीज पॉजीटिव आए हैं,वर्तमान में 196 केस एक्टिव हैं।

दिन भर सोशल पर लहराती रही लॉकडाउन की अपवाह
आज दिन भर सोशल मिडिया पर लॉकडाउन की अफवाह लहराती रही,लेकिन शाम होते—हाते यह मप्र की सीएम शिवराज का बयान आ गया कि मप्र में लॉकडाउन नही होगा,लेकिन कोरोना से लडने के लिए सरकार ने पूरी कमस कस ली हैंं।

2 दिन पहले तक कोरोनावायरस के मामले में निश्चिंत घूम रही शिवराज सिंह सरकार अचानक गंभीर हो गई। मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, रतलाम और विदिशा जिले में रात का कर्फ्यू लगा दिया गया है। बाजार पूरी तरह से बंद रहेंगे और बिना काम के लोगों को बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। इसके अलावा कक्षा 1 से 8 तक के समस्त स्कूल 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे।

सरकारी आदेश के बाद 21 नवम्बर से क्या बदल जाएगा
कन्टेनमेंट जोन लॉकडाउन रहेगा।
अन्तर्राज्यीय एवं अन्तरजिला परिवहन सतत एवं निर्बाध रूप से चल सकेगा।
अधिक संक्रमण के जिलों इन्दौर, भोपाल, ग्वालियर, रतलाम एवं विदिशा में 21 नवम्बर से आगामी आदेश तक प्रत्येक रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे।
नागरिक अति आवश्यक होने पर ही इस अवधि में ही घर से बाहर निकल सकेंगे।
औद्योगिक मजदूरों के आवागमन एवं ट्रकों के परिवहन पर कोई रोक नहीं रहेगी।
कक्षा 1 से 8वीं तक के समस्त स्कूल आगामी आदेश तक बंद रहेंगे।
कक्षा 9 से 12 के स्कूली छात्र-छात्राएं तथा कॉलेज के छात्र-छात्राएँ विभागों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुरूप गाइडेंस के लिए स्कूल/कॉलेज आ सकेंगे।
मुख्यमंत्री और गृहमंत्री ने दीपावली पर आतिशबाजी की अपील की थी
चिकित्सा विशेषज्ञों ने पहले ही चेतावनी दी थी कि यदि दीपावली के अवसर पर प्रदूषण बढ़ा दो कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ सकता है परंतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और गृहमंत्री डॉक्टर नरोत्तम मिश्रा ने नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश के पालन में संबंधित जिलों के कलेक्टरों द्वारा जारी प्रतिबंधों का विरोध करते हुए दिल खोलकर आतिशबाजी चलाने की अपील की थी। नतीजा दीपावली के छठवें दिन भोपाल में 400 से ज्यादा पॉजिटिव पाए गए।

चुनावी रैलियों में भीड़ जुटाने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा: प्रोटोकॉल का पालन करें
1 महीने पहले चुनावी रैलियों में कोविड-19 प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाने वाली भारतीय जनता पार्टी कि सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज अपील जारी करते हुए कहा कि हम सब कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सभी सुरक्षा उपायों को अपनाएं और मिलकर #COVID19 का पूर्व की भांति सामना करें। मास्क पहनें, परस्पर 2 गज की दूरी बनाए रखें और नियमित अंतराल में हाथ धोते रहें।

अब अंत में यह मांगा सीएम ने मप्र के कलेक्टरो से
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने एक तरफ घोषणा की है कि मध्य प्रदेश में लॉकडाउन नहीं होगा और दूसरी तरफ सभी जिलों के कलेक्टरों को निर्देशित किया है कि जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक आयोजित करें और कौन-कौन से कन्टेनमेंट जोन बनाए जाएंगे का प्रस्ताव राज्य शासन को भेजेंगे। बताने की जरूरत नहीं कि कंटेनमेंट जोन यानी एक क्षेत्र विशेष का लॉकडाउन। उल्लेखनीय है कि संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा जारी मीडिया बुलेटिन में कंटेनमेंट जोन का कॉलम ही खत्म कर दिया गया है।