नाती-नातिन के नाम दादा करेगा मकान और हो गया समझौता - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
शिवपुरी स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार को आयोजित परिवार परामर्श केन्द्र के शिविर में कुल 17 प्रकरण लाए गए जिनमें 9 प्रकरणों में राजीनामा आपसी सामाजस्य और समझाईश से संपन्न हुआ इस कैंप की सफलता का प्रतिशत 65 था। इस शिविर मे कुछ प्रकरणों को महिला थाने कार्यवाही हेतु वापस कर दिया गया।

वहीं कुछ प्रकरणों में दोनों पक्ष राजीनामा नहीं चाहते थे इसलिए वापस कर दिए गए। ग्वालियर जोन के आईजी अविनाश शर्मा के कुशल मार्गदर्शन एवं प्रयासों से और शिवपुरी पुलिस कप्तान राजेश सिंह चंदेल की पहल और निर्देशन में चलाए जा रहे परिवार परामर्श के शिविरों में आपसी समझौतों कराकर परिवारों को टूटने से बचाने का अनुकर्णीय काम जिला पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र के द्वारा किया जा रहा है। इसीक्रम में आयोजित रविवार के शिविर में 9 प्रकरणों का में राजीनामा हो गया।

करैरा निवासी सीमा का विवाह पिछोर निवासी राघवेन्द्र के साथ संपन्न हुआ था। दोनों ही पति-पत्नि उच्चशिक्षित हैं और पति भोपाल में शासकीय सेवा में हैं। इन दोनों के बीच मनमुटाव एवं वैचारिक मतभेद के चलते लम्बे समय से संवाद नहीं था और युवति विगत 14 माह से अपने मायके रह रही थी वहीं उसने बेटी को भी जन्म दिया।

दु:खद यह हैं कि बेटी के जन्म के बाद से ही पिता ने अपनी बेटी को एक बार भी नहीं देखा। परिवार परामर्श केन्द्र के परामर्शदाताओं के कुशल परामर्श से जहां पति-पत्नि के बीच मनोमालिन्य दूर हुआ वहीं दोनों के पिताओं के बीच भी आपसी सौहर्द कायम हुआ। अब पति अपनी पत्नि को 3-4 दिन के भीतर बेटी सहित विदा कराकर अपने साथ ले जाएगा।

एक और रोचक प्रकरण में शिवपुरी निवासी राजेश्वरी का था इस प्रकरण में उक्त महिला ट्यूशन, सिलाई तथा प्राईवेट स्कूल में नौकरी करके अपने बच्चे पालती थी और उसका पति बेरोजगार हैं। वर्तमान में वह अपने ससुर के द्वारा बनाए गए मकान में निवास करती थी। किन्तु किन्हीं कारणों बस नाराजी के चलते ससुर ने मकान खाली करने के लिए कह दिया।

इस बात को लेकर वो महिला इसलिए परेशान थी कि लॉक डाउन के कारण किराये का मकान लेने की स्थिति में नहीं थीं। इस मामले में काउन्सलरों की कुशल समझाईश के चलते ससुर ने यह लिखकर दिया कि उसकी बहू और बच्चे इस मकान में रहेंगे तथा बाद में यह मकान अपने नाति नातिन के नाम करेगा क्योंकि उसका पुत्र नशे का आदि हैं।

इस शिविर में पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया, कन्ट्रोल रूम प्रभारी सब इंस्पेक्टर ब्रजेन्द्र सिंह राजपूत, समीर गांधी, राहुल गंगवाल, राजेश गुप्ता, मथुरा प्रसाद गुप्ता, संतोष शिवहरे, हरवीर सिंह चौहान, डॉ. इकबाल खांन, महिपाल सिंह अरोरा, श्रीमती उमा मिश्रा, नमृता गर्ग,पुष्पा खरे, श्वेता गंगवाल, श्रीमती किरण अशोक ठाकुर, प्रीति जैन, मृदुला राठी , सहित महिला सेल का स्टाफ मौजूद था। महिला सेल की प्रधान आरक्षक राजेंद्र भार्गव ,आरक्षक शर्मा ,विपिन शर्मा ,वैजन्ती आदि का सहयोग सराहनीय रहा।