ताऊ ने बेच दी भाई की बेटी 2 लाख रुपए में, ससुराल नहीं गई तो ताई ने जिंदा जला दिया - KOLARAS NEWS

कोलारस।
खबर जिले के कोलारस अनुविभाग के बदरवास थाना अंतर्गत आने वाले गांव रिजौदी से आ रही हैं कि 2 दिन पूर्व संदिग्ध हालात में जली महिला के मामले में एक चौकाने वाला खुलासा हुआ है। बताया जा रहा है कि महिला अपने ससुराल नही जा रही थी तो क्रोध बस ताई ने उसे जिंदा जलाने की कोशिश की। पीड़िता के पिता ने अपने ही बड़े भाई व भाभी पर उसकी बेटी को दो लाख रुपए में बेचकर शादी कराने का आरोप लगाया हैं।

जानकारी के मुताबिक दो दिन पूर्व रात को रिजौदी निवासी सुनीता पली विष्णु केवट को जली हुई हालत में इलाज के लिए जिला अस्पताल भर्ती कराया गया। जब घटना के संबंध में सुनीता के पिता शोभा राम केवट सै जानकारी चाही गई तो उसका कहना था कि सुनीता की शादी 28 जून को शिवपुरी शहर के फिजीकल थाना क्षेत्र में निवासरत विष्णु केवट से हुई थी ।

बकौल शोभाराम यह शादी उसके बड़े भाई लालाराम व भाभी कलावती सहित लालाराम के दामाद राजकुमार व राजकुमार के पिता अमरसिंह निवासी नीमखेडा ने कराई थी । शोभाराम ने बताया कि उक्त लोगों ने शादी से पहले उसे बताया था कि विष्णु के घर में 12 लाख रुपए नगद,प्लॉट, घर का मकान व 7 बीघा जमीन है । इसके चलते वह सुनीता की शादी विष्णु से करने को तैयार हुआ था।

जब बेटी शादी होने के बाद ससुराल पहुंची तो वहां पता चला कि उसके ससुराल वाले किराए के मकान में रहते हैं। घर में खाने तक के लाले पड़े हुए हैं। यह बात बेटी ने उसे बताई और वापस ससुराल न जाने की बात कही। इसके बाद शोभाराम ने गांव में समाज की पंचायत बुलाई ताकि वह सभी बातों का खुलासा कर सके लेकिन उक्त पंचायत में एक भी मध्यस्थ नहीं आया।

इसी दौरान विष्णु के परिवार वाले उस पर सुनीता को ससुराल भेजने के लिए दबाब बनाने लगे तो उसने बेटी को भेजने से मना कर दिया। शोभारात ने बताया कि इस पर सुनीता के ससुराल वालों ने खुलासा किया कि उन्होंने सुनीता व विष्णु की शादी के एवज में दो लाख रुपए का भुगतान लालाराम,अमरसिंह व राजकुमार को किया हैं।

वह उसे ससुराल वापिस क्यों नहीं भेजेंगे,यह सुनने-उसने सभी लोगों से इसकी पुष्टि की न पर सभी किनारा करने लगे । इधर, सुनीता के ससुराल वालों ने भाई लालाराम केवट व भाभी न कलावती पर सुनीता को ससुराल भेजने के लिए प्रेशर बनाया तो ताई कलावती ने सुनीता को ससुराल जाने के लिए मनाने की कोशिश की, जब वह इसमें सफल नहीं हुई ना तो उसने सुनीता पर नाराजगी जाहिर करते हुए उसे आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने मामले में की विवेचना शुरू कर दी हैं।