दोनों विधानसभाओं से आखरी में 13-13 उम्मीदवार मैदान में, पोहरी में दो ने लिया नाम वापस - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
पोहरी और करैरा विधानसभा उपचुनाव में कल नाम वापिस लेने का अंतिम दिन था और अंतिम दिन करैरा विधानसभा क्षेत्र में किसी भी प्रत्याशी ने अपना नाम वापिस नहीं लिया। जबकि पोहरी विधानसभा क्षेत्र में दो निर्दलीय उम्मीदवारों ने नाम वापिस लिया है। जिन दो निर्दलीय ने नाम वापिस लिया उनके नाम हैं कालूराम कुशवाह और सपाक्स के उदयभान। इसी के साथ उम्मीदवारों को चुनाव चिन्ह भी आबंटित कर दिए गए हैं।

पोहरी विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के हरिवल्लभ शुक्ला, भाजपा के सुरेश राठखेड़ा, बसपा के कैलाश कुशवाह के अलावा कांग्रेस के दो बागी उम्मीदवार जनपद पंचायत शिवपुरी के अध्यक्ष पारम रावत और बार ऐसोसिएशन शिवपुरी के अध्यक्ष एवं जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष विनोद धाकड़ भी चुनाव मैदान में डटे हुए हैं।

उनके अलावा सपा के गिर्राज धाकड़, बहुजन मुक्ति पार्टी विनोद शाक्य, राष्ट्रीय क्रांतिकारी पार्टी के वैभव राजे, अंबेडकराईट पार्टी ऑफ इंडिया उम्मेद सिंह आदिवासी, निर्दलीय राधे धाकड़, सतेंद्र धाकड़, कैलाश परिहार, तॉफिक अहमद भी चुनाव मैदान में हैं।

करैरा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी जसमंत जाटव, कांग्रेस प्रत्याशी प्रागीलाल जाटव, बसपा प्रत्याशी राजेंद्र जाटव के अलावा समाजवादी पार्टी के दिनेश परिहार, जन अधिकार पार्टी के नारायण प्रसाद राष्ट्रीय वंचित पार्टी के महेश खटीक, राष्ट्रीय सुरक्षित पार्टी की राजकुमारी वंचित बहुजन अघाड़ी के सिरनाम के अलावा निर्दलीय राजा भैया प्रजापति बलराम जाटव, गंगाराम परिहार, गुलाबसिंह अहिरवार भी मैदान में डटे हुए हैं।

करैरा में भाजपा और पोहरी में बसपा रही थी दूसरे स्थान पर

पोहरी और करैरा विधानसभा क्षेत्र में 2018 में कांगे्रस ने विजयश्री हांसिल की थी। लेकिन पोहरी विधानसभा क्षेत्र में बसपा ने भाजपा को पीछे छोड़कर दूसरा स्थान प्राप्त किया था। बसपा प्रत्याशी कैलाश कुशवाह फिर से मैदान में हैं। जबकि करैरा में 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी जसमंत जाटव ने विजयश्री हांसिल की थी, जो अब भाजपा से चुनाव लड़ रहे हैं। कांगे्रस ने यहां से बसपा से 2018 का चुनाव लड़े प्रागीलाल जाटव को टिकट दिया है। जिससे खिन्न होकर करैरा में कई कांग्रेस नेताओं ने पार्टी छोड़ दी है और वह भाजपा में शामिल हो गए हैं। इनमें पूर्व विधायक शंकुतला खटीक और सेवानिवृत डिप्टी कलेक्टर केएल राय भी शामिल हैं।